झारखंड में वैक्सीन बर्बादी के स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों पर सीएम हेमंत सोरेन ने उठाए सवाल

रांची/झारखंड: स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से अलग अलग राज्यों में वैक्सीन की बर्बादी के आंकड़ों पर झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेने ने सवाल खड़े किये हैं। हेमंत सोरेन ने कहा कि बीजेपी अपनी हताशा में रोजाना नया शिगूफा छोड़ती है। उन्होंने कहा जहां तक वैक्सीन की बर्बादी का सवाल है तो स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी आंकड़ों में सत्यता नहीं है। स्वास्थ्य मंत्राल की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक झारखंड में 37.3 फीसदी वैक्सीन बर्बाद हुई।

सीएम हेमंत सोरेन ने अपनी आधिकारिक ट्वीटर हैंडल पर लिखा आज उन्होंने कहा की हमने 37% वैक्सीन बर्बाद कर दी। यह आंकड़ा ना सिर्फ़ भ्रामक बल्कि हास्यास्पद भी है। अभी तक कुल प्राप्त 48, 63, 660 लाख वैक्सीन में भारत सरकार के ही आँकड़ों के हिसाब से 40 लाख 12 हज़ार 269 वैक्सीनझारखंडियों को लग चुकी है, जो CoWin ऐप का डाटा एवं प्राप्त होने वाली सर्टिफ़िकेट से आसानी से क्रॉस चेक किया का सकता है।

पर झारखंडियों को बदनाम करने के ख़ातिर स्वास्थ्य मंत्रालय ने कह दिया की 37 % वैक्सीन बर्बाद। 48 लाख का 37 % – मतलब 18 लाख के लगभग होता है। अगर इतना बर्बाद हुआ तो फिर कैसे हमने 40,12, 269 वैक्सीन लगा दी ?

असल में हमारे राज्य में वैक्सीन वेस्टेज अब तक प्राप्त आंकड़ों के हिसाब से 4.65 % है जो राष्ट्रीय औसत (6.3%) से काफ़ी कम है। हम अपनी वेस्टेज को 2 % से भी कम करने के लिए युद्धस्तर पर तैयारी कर रहे हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी इस आंकड़े के बाद गोड्डा से बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने भी झारखंड सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा था कि झारखंड में वैक्सीन की चोरी की जा रही है औऱ राज्य सरकार इसे रोकने में नाकाम रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *