zakeer-naik-press-conference

जाकिर ने खुद को बताया ‘शांतिदूत’, ‘देश बचाने के लिए आत्मघाती हमला सही’

जाकिर ने खुद को बताया ‘शांतिदूत’, ‘देश बचाने के लिए आत्मघाती हमला सही’

कई बार रद्द करने के बाद आखिरकार शुक्रवार को जाकिर नाइक ने प्रेस कांफ्रेंस की। जाकिर ने ये प्रेस कांफ्रेंस दुबई से स्काइप के जरिये मुंबई में की। जाकिर इस वक्त सऊदी अरब में है। और अगले एक दो हफ्ते में उसके भारत लौटने की कोई संभावना भी नहीं है। स्काइप के जरिये किये गए इस प्रेस कांफ्रेंस में जाकिर नाइक ने कहा

वो शांतिदूत है और उसने कभी किसी को आतंक से जुड़ने के लिए नहीं उकसाया। आत्मघाती हमला पर जाकिर ने विरोधाभाषी बयान दिया है। जाकिर ने कहा इस्लाम में आत्मघाती हमला करना हराम है। जाकिर ने कहा कि युद्ध में आत्मघाती हमला करना सही है। देश बचाने के लिए आत्मघाती हमला करना सही है।

जाकिर ने कहा कि बांग्लादेश की एक रिपोर्ट के आधार पर भारत मे मेरा मीडिया ट्रायल किया गया। मेरे बयानों को आधा अधूरा दिखाया गया। मैने कभी आतंकवादियों को प्रेरित नहीं किया। जाकिर ने कहा कि उनसे भारत सरकार के किसी अधिकारी ने संपर्क नहीं किया। ना ही उससे कोई सवाल किया गया है। जाकिर ने कहा कि वो जांच में हर तरह से सहयोग के लिए तैयार है।

प्रेस कांफ्रेंस के दौरान एक बार जाकिर भड़क भी गए। उनसे भारत में मुस्लिमों की हालत को लेकर सवाल किये गए थे। जिसमें पूछा गया था कि भारत में मुसलमानों का आंकड़ा क्या है, उनकी साक्षरता दर कितनी है, आर्थिक हालात कैसे हैं , सरकारी नौकरी में कितने मुसलमान हैं तो इस सवाल पर जाकिर खामोश रह गए। उनका कहना था कि भारत में मुसलमानों के आंकड़े के बारे में उन्हें पता नहीं है।

भारत में उनके पीस टीवी के बैन लगाने पर जब सवाल किया गया तो जाकिर का कहना था कि उन्होंने लाइसेंस के लिए आवेदन किया था। लेकिन उसे अस्वीकार कर दिया गया। सुरक्षा कारणों से इसके पीछे की वजह नहीं बताई गई। जाकिर ने कहा कि मैं भी पूछना चाहूंगा कि पीस टीवी को क्यों बैन किया गया। सरकार पर बड़ा आरोप लगाते हुए जाकिर ने कहा कि मुस्लिम चैनल होने की वजह से इसे बैन कर दिया गया। जाकिर ने कहा कि बांग्लादेश सरकार से भी पूछना चाहता हूं कि वहां क्यों बैन किया गया। ब्रिटेने दुनिया के सबसे पुराने लोकतांत्रिक देशों में से एक है लेकिन वहां भी पीस टीवी का प्रसारण होता है।

जाकिर ने कहा कुछ लोग मेरी लोकप्रियता देखकर मेरे भाषणों से छेड़ छाड़ कर रहे हैं। दुनिया भर में मेरे समर्थक हैं। पीस टीवी देखनेवालों की संख्या लाखों में है। कई लोगों से रोज मिलता हूं। हर किसी के बारे में याद रखना संभव नहीं।

दरअसल बांग्लादेश के ढाका में हुए आतंकी हमले में शामिल एक आतंकी ने फेसबुक पर जाकिर से प्रेरित होने की बात लिखी थी। इसके बाद कई और आतंकियों ने भी जाकिर नाइक से प्ररित होने की बात कही थी। कुछ दिनों पहले जम्मू कश्मीर मे मारे गए बुरहान वानी ने भी अपने आखिरी ट्वीट में जाकिर का साथ देने की अपील की थी।
-Zakir Naik addressed the press conference via skype

Loading...

Leave a Reply