CM योगी ने आधी रात को अखिलेश के ड्रीम प्रोजेक्ट पर लगा दी रोक

लखनऊ: सीएम योगी ने अखिलेश सरकार के वक्त शुरु की गई समाजवादी पेंशन योजना पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है। यही नहीं राज्य में बने साइकिल ट्रैक को भी तोड़ने पर योगी सरकार विचार कर रही है। ये दोनों ही प्रोजेक्ट अखिलेश के ड्रीम प्रोजेक्ट में शामिल थी। योगी सरकार ने मंगलवार की आधी रात को ये अहम फैसले लिये।

मंगलवार रात समाज कल्याण विभाग की बैठक में सीएम योगी आदित्यनाथ ने अखिलेश यादव की सबसे बड़ी योजनाओं में शामिल रही समाजवादी पेंशन योजना पर रोक लगा दी। सीएम ने केवल समाजवादी पेंशन योजना पर रोक ही नहीं लगाई है बल्कि इसकी जांच के आदेश भी दिये हैं। इसमें इस बात की जांच की जाएगी कि जिन्हें पेंशन मिल रहा है वो इसके योग्य हैं या नहीं। योगी सरकार ने 1 महीने में इसकी जांच रिपोर्ट मांगी है।

ये भी पढें :

– सलमान ने उतार दी सनी लियोनी की साड़ी..उसके बाद क्या हुआ?
– भारत की कड़ी चेतावनी के आगे झुका पाकिस्तान, कुलभूषण को मिलेगा जीनवदान!

अखिलेश सरकार समाजवादी पेंशन योजना के तहत हर गरीब परिवारों को हर महीने 500 रुपये देती थी। योगी सरकार ने विधवाओं, दिव्यांगों और बुजुर्गों को पेंशन की राशि दोगुनी यानि 1000 रुपये करने की योजना है।

शादी अनुदान योजना पर भी योगी सरकार ने चोट किया है। यूपी में शादी अनुदान योजना का नाम अब कन्यादान योजना कर दिया गया है। इस योजना के तहत निजी गरीब परिवारों को अपनी बेटियों की शादी में आर्थिक दिक्कत ना आए इसलिए उन्हें सरकार की तरफ से 20 हजार रुपये दिये जाते हैं। लेकिन ये स्कीम परिवार में दो बेटियों तक ही सीमित है।

समाजवादी साइकिल ट्रैक भी टूटने के मुहाने पर है। पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने लखनऊ से लेकर नोएडा समेत कई इलाकों में साइकिल ट्रैक का निर्माण करवाया था। लेकिन अब योगी सरकार इस साइकिल ट्रैक को लखनऊ और नोएडा जैसे शहरों में इसे खत्म करना चाहती है। सड़कों को चौड़ा करने के बहाने ही सारकार साइकिल ट्रैक खत्म करने पर विचार कर रही है। हलांकि इस बारे में आखिरी फैसला अभी लिया जाना बाकी है।

हलांकि साइकिल ट्रैक को तोड़ने में सबसे दिक्कत ये है कि इन्हें तैयार करने में करोड़ों रुपये खर्च हुए थे। अब इन्हों तोड़ने में भी पैसे खर्च होंगे वो भी बड़ी तादाद में।

Loading...