केस दर्ज होने के बाद लालू के बेटे तेजस्वी यादव की कैबिनेट से होगी छुट्टी!

पटना:  लालू यादव के घर समेत 12 ठिकानों पर सीबीआई की छापेमारी के बाद बिहार की सियासत में भूचाल आ गया है। बिहार में महागठबंधन के दरकने की बात तक की जा रही है। सवाल नीतीश सरकार के भविष्य पर भी उठ रहे हैं। सीबीआई की तरफ से बिहार के डिप्टी सीएम और लालू के बेटे तेजस्वी यादव के खिलाफ भ्रष्टाचार का केस दर्ज करने के बाद अब तेजस्वी के इस्तीफे की मांग तेज हो रही है।

मौजूदा हालात में ये संभावना प्रबल हो रही है कि तेजस्वी की कैबिनेट से छुट्टी हो सकती है। क्योंकि तेजस्वी के बहाने विपक्ष के निशाने पर नीतीश भी हैं। सवाल ये किये जा रहे हैं कि जिस सुशासन की बात नीतिश करते हैं उसमें तेजस्वी यादव फिट नहीं बैठ रहे हैं। क्योंकि उनपर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगे हैं। इस हालत में तेजस्वी का इस्तीफा ही एक मात्र विकल्प बचता है।

लेकिन सवाल ये है कि कैबिनेट से तेजस्वी की विदाई किन शर्तों और तरीकों से होगी? क्या नीतीश कुमार कड़ा फैसला लेते हुए तेजस्वी को बर्खास्त कर देंगे? या फिर वो लालू यादव से बात कर तेजस्वी को इस्तीफा देने के लिए तैयार करने की बात कहेंगे? या फिर इस मामले में चार्जशीट दाखिल होने तक नीतीश इंतजार करेंगे?

तेजस्वी के इस्तीफे पर आरजेडी का कहना है कि केंद्रीय कैबिनेट मंत्री उमा भारती के खिलाफ बाबरी विध्वंस मामले में चार्जशीट दायर हो जाने के बाद भी वो मंत्रिमंडल में बनी हुई हैं तो फिर तेजस्वी से इस्तीफा क्यों मांगा जा रहा है। सीबीआई की छापेमारी पर आरजेडी प्रवक्ता मनोज झा ने कहा ये भारत के लोकतंत्र के लिए काला अध्याय है।

Loading...