खत्म हो जाएगा सस्ते पेट्रोल-डीजल का जमाना ?

खत्म हो जाएगा सस्ते पेट्रोल-डीजल का जमाना ?

सस्ते पेट्रोल और डीजल का जमाना अब खत्म हो सकता है। और अगर आप ये उम्मीद लगाए बैठे हैं कि जिस पेट्रोल और डीजल को आप खरीदते हैं वो और सस्ता हो जाएगा तो शायद आपकी सोच गलत है। ये हम नहीं कह रहे हैं ये संदेशा आया है उन देशों से जहां तेल के कुंए हैं। उन्हीं देशों की दोहा में एक बैठक हुई। जिसमें इस बात की चर्चा की गई की तेल का उत्पादन हर महीने के लिए तय कर दिया जाए। सूत्रों के मुताबिक प्रस्ताव में इस बात का भी जिक्र किया गया था कि जनवरी महीने में तेल का जितना उत्पादन हुआ था उत्पादन का वही स्तर अक्टूबर तक बनाकर रखा जाए। हलांकी इस प्रस्ताव को लेकर अभी सभी ओपेक और ओपेक से बाहर के देशों के बीच सहमति नहीं बनी है। लेकिन अगर ऐसा होता है तो 15 सालों बाद ये देखने को मिलेगा जिसमें तेल उत्पादन करनेवाले सभी देश एकमत होंगे। दोहा में जो एग्रीमेंट सर्कुलेट किया गया उसमें ये भी कहा गया है कि अक्टूबर तक के लिए तेल का उत्पादन निश्चित करने के बाद अक्टूबर में एकबार फिर बैठक की जाए। जिसमे इससे बननेवाले हालात पर चर्चा किया जाए और फिर ये फैसला लिया जाए की इसे आगे जारी रखा जाए या नहीं। दोहा बैठक में ओपेक और ओपेक के बाहर के एक दर्जन देश शामिल थे। लेकिन इसमें एक ट्वीस्ट भी है। जिस बैठक में तेल के उत्पादन को जनवरी के स्तर पर सीमित करने पर चर्चा हो रही थी इरान उस बैठक में शामिल नहीं था।

इरान ने पिछले दिनों अपने तेल के उत्पादन में 5 मिलियन बैरल प्रति दिन का इजाफा किया था। तेल उत्पादक देशों का ये फैसला चिंता बढ़ानेवाला इसलिए है क्योंकि भारत में जिस पेट्रोल और डीजल को आप पेट्रोल पंप से खरीदते हैं वो उन्हीं देशों से आयात किया जाता है। अब जब तेल का उत्पादन सीमित किया जाएगा तो इसका असर कच्चे तेल की सप्लाइ पर भी पड़ेगा। और जब सप्लाइ पर असर पड़ेगा तो इसका असर आपकी जेब पर भी पड़ेगा।

Loading...

Leave a Reply