मसूद अजहर चीन का इतना चहेता क्यों बन गया?

मसूद अजहर चीन का इतना चहेता क्यों बन गया?

बड़ी अजीब हालात बन गए हैं भारत और चीन के बीच। एक तरफ भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर चीनी नेताओं से मुलाकात कर रहे हैं दूसरी तरफ चीन अपनी अलग चाल चल रहा है। 2 जनवरी को पठानकोट में हुए आतंकी हमले के मास्टरमाइंड और जैश ए मुहम्मद के सरगना मसूद अजहर को आतंकी घोषित करने की मांग भारत ने संयुक्त राष्ट्र में रख दी। उम्मीद ये की जा रही थी की अपनी कोशिशों में भारत कामयाब भी हो जाएगा। लेकिन संयुक्त राष्ट्र के पांच स्थायी सदस्यों में से सबसे करीबी पड़ोसी देश चीन ने दगा दे दिया। संयुक्त राष्ट्र संघ में इस प्रस्ताव के खिलाफ चीन ने अपने वीटो का इस्तेमाल कर दिया। नतीजा ये हुआ की भारत की सारी मेहनत पर पानी फिर गया। इसे बगैर सोचे समझे या जल्दबाजी में लिया गया चीन का फैसला नहीं माना जा सकता है। क्योंकि अपने वीटो के इस्तेमाल के फैसले पर चीन आज भी कायम है और उसे सही भी ठहरा रहा है। चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा है कि चीन सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव संख्या 1267 के मामले में तथ्यों के साथ चलता है। यानि मसूद अजहर के लिए हमदर्दी दिखाने पर चीन को ना तो कोई अफसोस है और ना ही बदलाव की गुंजाइश। चीन की तरफ से ये बात तब कही गई है जब विदेश मंत्री सुषमा स्वराज चीन के विदेश मंत्री वांग यी से मॉस्को में मुलाकात तय है। रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर शंघाई का दौरा कर रहे हैं। चीनी प्रवक्ता संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन की आलोचना का जवाब दे रहे थे। दरअसल अकबरुद्दी ने कहा था कि चीन आतंकी संगठनों और उनके सरगनाओं के मामले में वीटो का इस्तेमाल करता है। चीनी प्रवक्ता ने कहा कि हमने भारत के स्थाई प्रतिनिधि का बयान देखा है। भारत और चीन दोनों ही आतंकियों के शिकार हैं और दोनों की हालत एक जैसी है। यहां पर चीन का दोहरा मापदंड साफ देखा जा सकता है। जहां एक तरफ मिलकर आतंक के खिलाफ जंग की बात की जाती है और दूसरी तरफ मसूद अजहर जैसे आतंकी को बचाने के लिए अपने वीटो पावर का इस्तेमाल करता है। ये पहला मौका नहीं है जब चीन ने ऐसी चाल चली हो। भारत-चीन सरहद से अकसर ये बात सामने आती है कि चीनी सेना ने भारतीय सरहद में घुसपैठ की। यानि एक तरफ तो चीन भारत के साथ मिलकर व्यापार बढ़ाने की बात करता है दूसरी तरफ भारतीय सरजमीं को अपना बताने का दुस्साहस।

Loading...

Leave a Reply