ramrahim

बड़ा सवाल: कौन संभालेगा राम रहीम की विरासत, चर्चा में है ये नाम

बड़ा सवाल: कौन संभालेगा राम रहीम की विरासत, चर्चा में है ये नाम

नई दिल्ली:  डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम का जो स्वर्ण काल चल रहा था वो अब खत्म हो चुका है। इस बात की पूरी उम्मीद है कि जिस तरह के कुकर्म उसने किये हैं और उसके दोषी ठहराए जाने के बाद जिस तरह का उत्पात उसके गुंडों ने हरियाणा में किया उसके बाद उसे सख्त सजा दी जाएगी। सोमवार को राम रहीम के सजा के एलान हो जाएगा। उसे 7 साल से लेकर उम्र कैद तक की सजा मिल सकती है।

लेकिन इस बीच बड़ा सवाल ये बना हुआ है कि उसके जेल जान के बाद अब उसकी विरासत कौन संभालेगा। हलांकि फिलहाल उसकी विरासत उसकी नहीं है। क्योंकि हाई कोर्ट पहले ही डेरा की सारी संपत्ति सील करने का आदेश दे चुका है। उसकी संपत्ति बेचकर ही उस नुकसान की भरपाई की जाएगी जो राम रहीम के गुंडों ने किया था।

लेकिन इसके बाद भी ये सवाल किये जा रहे हैं कि राम रहीम की विरासत कौन संभालेगा। क्योंकि बलात्कारी बाबा का ठिकाना तो अब जेल ही होगा। ऐसे में उसकी मुंहबोली बेटी हनीप्रीत सिंह इंसा का नाम काफी ज्यादा चल रहा है। हनीप्रीत राम रहीम की अपनी नहीं बल्कि मुंहबोली बेटी है। वो हर वक्त उसके साथ रहती है।

पिछले दिनों जब पंचकूला में सीबीआई अदालत में राम रहीम को फैसला सुनाया गया तब भी वो उसके साथ थी। हेलिकॉप्टर में भी हनीप्रीत राम रहीम के साथ थी। जिसपर काफी सवाल भी उठे कि एक अपराधी को जब कस्टडी में ले लिया गया तो उसके साथ उसके परिवार का सदस्य कैसे जा रहा था।

राम रहीम ने 23 साल की उम्र में 1990 में डेरा सच्चा सौदा की कमान संभाली थी। उसे डेरा का तीसरा प्रमुख नियुक्त किया गया था। लेकिन डेरा का प्रमुख बनते ही बाबा की नीयत बिगड़ गई और डेरा की लड़कियां उसके हवस का शिकार बनने लगीं। हलांकि इसकी कोई गिनती नहीं है कि बाबा ने कितनी लड़कियों को बर्बाद किया है।

हलांकि राम रहीम ने 2007 में अपने बेटे जसमीत इंसा को अपना उत्तराधिकारी बनाने की कोशिश की थी। लेकिन इसमें डेरा के नियम आड़े आ गए। 2007 में सीबीआई ने गुरमीत राम रहीम के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी। यही वजह है कि हनीप्रीत के उत्तराधिकार बनने की संभावन प्रबल है। क्योंकि उसकी अपनी नहीं बल्कि गोद ली हुई बेटी है। इसलिए डेरा का परिवारवाद वाला नियम आड़े नहीं आएगा।

Loading...

Leave a Reply