कांग्रेस-SP गठबंधन करे तो कौन रोक लेगा-अखिलेश यादव

लखनऊ: यूपी विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी और कांग्रेस एक दूसरे के विरोध में रहेंगे या दोनों पार्टियों के बीच गठबंधन होगा इसपर चर्चा जोरों पर है। इस बीच अखिलेश ने ये कह दिया कि अगर कांग्रेस और समाजवादी पार्टी गठबंधन करती हैं तो कौन रोक लेगा। हलांकि उन्होंने ये भी कहा कि गठबंधन पर आखिरी फैसला नेता जी (मुलायम सिंह यादव) करेंगे।

अखिलेश ने एक तरफ गंठबंधन की संभावना को जन्म दिया तो दूसरी तरफ उसे ये कहकर विराम लगाने की कोसिश की कि इसपर आखिरी फैसला नेताजी करेंगे। उन्होंने कहा कि महागठबंधन पर पार्टी फोरम में चर्चा होनी चाहिए। इस बारे में अखिलेश और नेताजी के बीच बात भी हुई है। लेकिन इसपर कोई फैसला नहीं लिया गया है।

अखिलेश भले ही इसपर कोई बड़ा बयान नहीं दे रहे हैं लेकिन समाजवादी पार्टी के कई नेताओं का ये मानना है कि बीजेपी को रोकने के लिए गठबंधन जरुरी है। अखिलेश ने आगे कहा अगर समाजवादी पार्टी और कांग्रेस गठबंधन करना चाहती है तो कौन रोक लेगा? लेकिन इससे नफा और नुकसान का आकलन जरुरी है। पिछले दिनों लखनऊ में कांग्रेस के रणनीतिकार प्रशांत किशोर और सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव के बीच मुलाका भी हुई थी।
प्रशांत किशोर सीएम अखिलेश से भी मिलना चाहते थे। लेकिन तीन दिन के इंतजार के बाद भी प्रशांत की अखिलेश से मुलाकात नहीं हो सकी। जिसके बाद प्रशांत दिल्ली लौट गए।

वहीं कांग्रेस के सूत्रों के मुताबिक राहुल गांधी भी गठबंधन के पक्ष में अपना मन बना रहे हैं। सूत्र बताते हैं राहुल अखिलेश के साथ चुनाव लड़ने के लिए तैयार हैं। गठबंधन की सूरत में दोनों पार्टियों के बीच सीटों के बंटवारे पर कांग्रेस का मानना है कि 125-150 मिल जाए तो गठबंधन हो सकता है। अखिलेश एकबार राहुल को अच्छा आदमी भी बता चुके हं। उन्होंने कहा था अगर राहुल यूपी आते रहे तो उनसे दोस्ती भी हो जाएगी। कहीं अखिलेश ने अपने उस बयान में आज के गठबंधन की चर्चा का बीज तो नहीं डाला था।

Loading...