सावधान! भारत में जीका वायरस के तीन मामले आए सामने WHO ने की पुष्टि

नई दिल्ली:  भारत में एक नया खतरा सामने आया है। यहां जीका वायरस के तीन मामलों की पुष्टि हुई है। WHO इन तीनों मामलों की पुष्टि की है। ये जीका वायरस पॉजिटिव तीनों पीड़ित गुजरात के हैं। इनमें से दो मामले 2016 के हैं जबकि एक मामला जनवरी 2017 में जांच में सामने आया था।

ये पहली बार हुआ है कि भारत में जीका वायरस के इस तरह के मामले सामने आए हैं। जीका वायरस से पीड़ित तीनों मरीज गुजरात में अहमदाबाद के बापूनगर इलाके के हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन की वेबसाइट पर छपी रिपोर्ट के मुताबिक अहमदाबाद के बीजे मेडिकल कॉलेज ने 10 से 16 फरवरी 2016 के बीच खून के 93 सैंपल इकट्ठे किये थे।

इनमें एक सैंपल 64 साल के बुजुर्ग का था जिनमें जीका वायरस पाया गया था। भारत में पहली बार जीका वायरस का संक्रमण सामने आया है। 34 साल की एक महिला के ब्लड सैंपल में भी जीका वायरस की पुष्टि हुई है। महिला ने नवंबर 2016 में बीजेएमसी में एक बच्चे को जन्म दिया था। डिलीवरी के वक्त लिये गए ब्लड सैंपल में जीका वायरस पाया गया था। तीसरा मामला जनवरी 2017 का है। जिसमें एक 22 साल की गर्भवती महिला में जीका वायरस पाया गया है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी इसकी पुष्टि कर दी है। अंत में पुणे की नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ वायरोलॉजी की रेफरेंस लेबोरेटरी में इस टेस्ट के नतीजे आए हैं, जिसमें तीनों लोगों के आरटी-पीसीआर टेस्ट पॉजिटिव पाए गए हैं। ये टेस्ट अहमदाबाद के बीजेएमसी में किये गए थे।

WHO की पूरी रिपोर्ट पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Loading...