अखिलेश निकले असली समाजवादी अब मुलायम का अगला दांव क्या होगा?




नई दिल्ली: असली और नकली समाजवादी की लड़ाई 2016 के अप्रैल महीने से जारी थी। ये लड़ाई पिता मुलायम सिंह यादव और पुत्र अखिलेश यादव के बीच चल रही थी। इस लड़ाई की पराकाष्ठा ये थी कि असली समाजवादी पार्टी कौन है इसका फैसला चुनाव आयोग करे। पिता अखिलेश यादव और पिता मुलायम सिंह यादव दोनों ने अपनी अपनी दावेदारी चुनाव आयोग के सामने सौंपी।

पिता और पुत्र की उस दावेदारी पर चुनाव आयोग ने सोमवार की शाम को फैसला सुना दिया। चुनाव आयोग के ने कहा समाजवीदी पार्टी पर अखिलेश यादव का हक है। और वही साइकिल के चुनाव चिन्ह पर चुनाव भी लड़ेंगे। चुनाव आयोग में अपनी अपनी दावेदारी पेश करने के बाद ही मुलायम सिंह यादव ने कहा था कि अब सबकुछ चुनाव आयोग पर है। लेकिन अब चुनाव आयोग की अदालत में मुलायम सिंह अपना मुकदमा हार चुके हैं। लेकिन इस बात की संभावना कम है कि ये लड़ाई यहीं पर खत्म हो जाएगी। क्योंकि मुलायम गुट अब कोर्ट का रुख कर सकता है।

इसी बीच लखनऊ में पार्टी कार्यालय में अखिलेश यादव का नेम प्लेट लगा दिया गया है। जिसपर उन्हें अध्यक्ष बताया गया है। अब ये पूरी तरह से साफ हो चुका है कि अखिलेश ही साइकिल के चुनाव चिन्ह पर यूपी विधानसभा चुनाव लड़ेंगे। चुकी अब समाजवादी पार्टि अखिलेश यादव की हो चुकी है तो चाचा शिवपाल का क्या होगा सपा दंगल की कहानी का ये भाग देखना भी काफी दिलचस्प होगा।

Loading...

Leave a Reply