चीन मदद नहीं करेगा फिर भी उत्तरी कोरिया से अकेले निपट लेंगे- ट्रंप

नई दिल्ली: अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने साफ शब्दों में कहा दिया है कि अगर उत्तर कोरिया के मसले पर चीन हमारी मदद नहीं करेगा फिर भी हम उत्तरी कोरिया से अकेले ही निपट लेंगे। ट्रंप ने आगे कहा अगर इस मसले पर चीन हमारी मदद करता है तो ये चीन के लिए अच्छा होगा। लेकिन अगर चीन हमारी मदद नहीं करता है तो ये किसी के लिए ठीक नहीं होगा।

ट्रंप की तरफ से ऐसा कहने की एक मजबूत वजह है। क्योंकि उत्तर कोरिया पर चीन का काफी प्रभाव है। उत्तरी कोरिया के साथ चीन की नजदीकी का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है जिस तरह से दक्षिण कोरिया अमेरिका के साथ खड़ा है और उत्तर कोरिया को कंट्रोल में रखने के लिए अमेरिका ने दक्षिण कोरिया में अपने सैनिक भी तैनात किये हैं। उसी तरह से चीन अपने पड़ोसी उत्तर कोरिया की हर संभव मदद करता है। और वहां की तानाशाही सरकार पर अपना प्रभाव भी रखता है।

ये भी पढें :

– CM योगी एक बहुत बड़ी गलती करने जा रहे हैं आखिर किसके दबाव में हैं आदित्यनाथ
– UPPSC के चेयरमैन को CM ने तलब किया, विशेष जाति को लोगों की भर्ती का आरोप

ट्रंप का ये बयान ऐसे वक्त में आया है जब इसी हफ्ते ट्रंप की मुलाकात चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग से होनी है। चीन के राष्ट्रपति अमेरिका के दौरे पर आनेवाले हैं। फ्लोरिडा में दोनों राष्ट्राध्यक्षों की मुलाकात होगी। उससे ठीक पहले ट्रंप की तरफ से ये कहना कि उत्तर कोरिया पर वो अकेले कार्रवाई करने में सक्षम है काफी मायने रखता है। इस बयान में ये संकेत भी दिया गया है कि उत्तरी कोरिया के खिलाफ कड़े कदम उठाए जा सकते हैं।

हलांकि ट्रंप से जब ये पूछा गया कि उत्तर कोरिया को अपने नियंत्रण में लेने के लिए क्या रणनीति अपनाई जाएगी। तो इसके जवाब में उन्होंने कहा इस बारे में मैं आपको नहीं बताऊंगा। आप जानते हैं कि मैं पहले की अमेरिका की तरह नहीं हूं कि पहले ही बता दूं कि हम मध्यपूर्व में इस जगह पर हमला करने जा रहे हैं।

Loading...

Leave a Reply