हनीप्रीत के पूर्व पति ने खोला राम रहीम का राज बोला ‘मैंने देखा था उन्हें सेक्स करते हुए’

नई दिल्ली:  राम रहीम की गिरफ्तारी के तकरीबन महीने भर बाद हनीप्रीत के पूर्व पति विश्वास गुप्ता मीडिया के सामने आए। उन्होंने राम रहीम के गुफा में खेली जाने वाली उस घिनौने खेल का खुलासा किया है जिसे अबतक दुनिया किसी दूसरे से सुन रही थी। लेकिन विश्वास गुप्ता ने जो कुछ कहा वो खुद उसके गवाह भी हैं। विश्वास गुप्ता ने कहा कि राम रहीम और हनीप्रीत का रिश्ता बाप-बेटी का नहीं था। उन्होंने खुद उन दोनों के सेक्स करते हुए देखा था।

विश्वास गुप्ता प्रेस कांफ्रेंस के दौरान भावुक भी हो गए। उन्होंने यहां तक कहा कि राम रहीम भले ही जेल में है लेकिन वो काफी जहरीला है। विश्वास गुप्ता ने यहां तक कहा कि जेल के भीतर से भी राम रहीम उसकी हत्या करवा सकता है। उन्होंने कहा कि केवल राम रहीम के डर की वजह से मुझे मीडिया के सामने आने में एक महीने का वक्त लग गया। प्रेस कांफ्रेंस करते हुए विश्वास गुप्ता रो पड़े थे।

विश्वास गुप्ता ने कहा कि मैंने अब शादी कर ली है, मेरी एक बेटी भी है और हो सकता है आज के बाद आप मुझे दोबारा नहीं देख सकें। क्योंकि राम रहीम जब चाहे मेरी हत्या करवा सकता है। विश्वास गुप्ता ने कहा कि राम रहीम के गुफा में बिग बॉस के घर जैसा खेल खेला जाता था। उसमें पूरे 28 दिन तक उन्हें बंधक बनाकर रखा गया था। उस खेल में जो भी गलती करता था उसकी सजा बढ़ते जाती थी। विश्वास गुप्ता ने बताया कि उस खेल में हनीप्रीत भी शामिल होती थी। और वो जान कर गलती करती थी। क्योंकि गलती करनेवाले को गुफा में ही रहना पड़ता था।

ram rahim

विश्वास गुप्ता ने बताया कि मैंने खुद राम रहीम और हनीप्रीत को सेक्स करते हुए देखा है। उन्होंने कहा कि हनीप्रीत और राम रहीम एक ही बिस्तर पर सोते थे। जब हम गाड़ी से कहीं जाते थे तो मैं गाड़ी चलाता था और हनीप्रीत और राम रहीम गाड़ी के पीछे वाली सीट पर बैठते थे। विश्वास गुप्ता ने कहा हनीप्रीत राम रहीम से 14 साल छोटी है। उन्होंने कहा कि हमारी सारी संपत्ति डेरा ने जबरन रजिस्ट्री करवा ली।

उन्होंने कहा कि डेरा से निकलने के बाद राम रहीम के गुंडे हर वक्त हमारा पीछा करते थे। मैं या हमारे परिवार का कोई सदस्य जहां भी जाता था राम रहीम के आदमी वहीं पर पहुंच जाते थे। हमें हर तरह से  टॉचर किया गया था। जिसके बाद हमने राम रहीम से माफी मांग ली थी।

विश्वास गुप्ता ने कहा कि हनीप्रीत ही डेरे का पूरा मैनेजमेंट देखती थी। उनसे जब विपस्यना के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वो वहां पर केवल एक वर्कर है। लेकिन असली सत्ता हनीप्रीत के पास ही थी। उसके बिना डेरा में कोई फैसला नहीं लिया जाता था। उन्होंने कहा जब हनीप्रीत राम रहीम के कमरे में जाती थी तो मुझे बाहर बैठा दिया जाता था।

Loading...

Leave a Reply