माल्या-जेटली मुलाकात पर बढ़ा विवाद, राहुल ने वित्त मंत्री से मांगा इस्तीफा

नई दिल्ली:  लंदन में कोर्ट में पेशी के बाद बैंकों से अरबों रुपये लेकर फरार हो चुका शराब कारोबारी विजय माल्या ने वित्त मंत्री अरुण जेटली से मुलाकात का जो बयान दिया उसने सियासी भूचाल ला दिया। हर तरफ से अरुण जेटली से माल्या के बयान पर जवाब मांगा जा रहा है। विवाद बढ़ने के बाद माल्या ने कहा मीडिया ने सारा विवाद खड़ा किया।

माल्या ने बुधवार को कहा था कि देश छोड़ने से पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली से मिला था। माल्या ने आगे कहा उनसे मिलकर मामले को सुलझाना चाहता था। लेकिन बैंकों की आपत्ति की वजह से मामला सुलझ नहीं सका। माल्या ने लंदन में कोर्ट के बाहर आकर बताया कि मुझे दोनों बड़ी पार्टियों ने फुटबॉल बना दिया और बाद में मुझे बलि का बकरा बनाया गया। माल्या ने आगे कहा जेनेवा में एक मीटिंग में शामिल होने के लिए मैं देश से बाहर आया था।

बाद में माल्या ने कहा कि जेटली से उसने कभी औपचारिक मुलाकात नहीं की। उनके बयान को लेकर मीडिया ने विवाद खड़ा कर दिया। मैं केवल ये बताना चाहता था कि किस तरह से मैं भारत से बाहर आया।

माल्या के इस बायन के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भी सफाई दी है। उन्होंने कहा कि माल्या से कभी औपचारिक मुलाकात नहीं हुई। ना ही माल्या को कभी मुलाकात के लिए वक्त दिया गया। हलांकि संसद परिसर में माल्या ने बात करके मामले को सुलझाने का ऑफर दिया था। जेटली ने आगे कहा मैंने उसके ऑफर को ठुकराते हुए कहा कि इस बारे में कोई बात नहीं हो सकती। ना ही मैंने उससे कोई दस्तावेज लिये। माल्या अपने साथ कुछ दस्तावेज भी लेकर आया था।


माल्या के इस बयान के बाद दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया देश छोड़ने से पहले नीरव मोदी की प्रधानमंत्री से मीटिंग और माल्या की वित्त मंत्री अरुण जेटली से मीटिंग से क्या साबित होता है, यह लोग जानना चाहते हैं।


कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस मामले में पीएम मोदी से जांच की मांग की है। साथ ही उन्होंने का कि तुरंत ही अरुण जेटली को वित्त मंत्रालय से हटाया जाना चहिए।

(Visited 21 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *