तोगड़िया की प्रेस कांफ्रेंस- मुझे किसी ने बताया आपका एनकाउंटर होने वाला है

नई दिल्ली:  11 घंटे तक लापता रहने के बाद प्रवीण तोगड़िया ने मंगलवार को प्रेस कांफ्रेंस की। जिसमें उन्होंने सोमवार को सुबह से लेकर रात को अस्पताल पहुंचने तक की पूरी कहानी सुनाई। उन्होंने कहा कि मुझे कसी ने वीएचपी कार्यालय में कहा कि आपका एनकाउंटर होनेवाला है। उसके बाद मैं वहां से बिना किसी को बताए ऑटो से बाहर निकल गया। तोगड़िया ने कहा कि सेंट्रल आईबी की तरफ से मुझे डराया जा रहा है।  बाद तोगड़िया ने सिलसिलवार तरीके से सोमवार की पूरी घटनाक्रम बताई।

कुछ समय से मेरी आवाज दबाने का हर संभव प्रयास होता रहा

हिंदू एकता के लिए प्रयासरत रहा

हिंदूओं की आवाज राम मंदिर बनाने की

सेंट्रल आईबी ने 10 हजार डॉक्टरों को उनके घरों पर जाकर डरा रही है

संट्रल आईबी मेरे खिलाफ कानून विरूद्ध केस निकलवा कर गिरफ्तार कर एक जेल से दूसरी जेल भेजकर मुझे डराने का खेल शुरु हुआ

मेरे खिलाफ पुराने केस निकाले जा रहे हैं मुझे डराने के लिए

राजस्थान का पुलिस का काफिला गिरफ्तारी वारंट लेकर आया।

यह मेरी आवाज दबाने के अनेक कदम का एक हिस्सा है

आरएसएस के भइयाजी जोशी के साथ कार्यक्रम कर लौटा

मैंने पुलिस को कहा कि ढाई बजे आओ

सुबह पूजा के वक्त एक व्यक्ति मेरे रूम में घुस आया

जल्दी रूम छोड़ दो आपका एनकाउंटर करने के लिए लोग निकले हैं

मैंने बाहर देखा तो बाहर दो पुलिसवाले थे

फोन आया और कहा कि सोला पुलिस स्टेशन से राजस्थान पुलिस का काफिला और गुजरात पुलिस  के सहयोग से निकला है। मुझे  लगा कि कुछ दुर्घटना हुई तो पूरे देश में बुरी परिस्थिति खड़ी होगी। मैंने तुरंत इस कपड़े को पहनकर बाहर निकला । बाहर पुलिस बल को कहा कि मैं कार्यालय छोड़कर जा रहा हूं। मैं ऑटो रिक्शा में बैठकर कार्यालय से निकला। राजस्थान के सीएम और गृह मंत्री की तरफ से कहा गया मेरी तरफ से कोई पुलिस नहीं आई।

फिर मैंने फोन स्विच ऑफ कर दिया। पूछताछ करने पर पता चला कि वो अरेस्ट वारंट लेकर आए हैं। मैंने राजस्थान के वकीलों से संपर्क कर हाईकोर्ट के वारंट के बारे में बात की।

मैं ऑटो स एयरपोर्ट जा रहा था मुझे चक्कर आने लगा। मैंने उससे कहा बापू नगर अस्पताल पहुंचाओ। रात को जब होश आया तो पता चला मैं अस्पताल में हूं। जब डॉक्टर कहंगे मैं न्यायालय जाकर कानून का आदर करूंगा। मैंने कभी न्यायालय का अनादर नहीं किया।

Loading...