अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने UN में आतंकी मसूद अजहर को ब्लैक लिस्ट करने का प्रस्ताव दिया

नई दिल्ली:  आतंक के खिलाफ जंग में अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने साफ कर दिया है कि वो भारत के साथ है। अमेरिका पीओके में भारत की कार्रवाई का समर्थन भी कर चुका है। इसके बाद भारत की एक और कूटनीतिक जीत हुई है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर को ब्लैक लिस्ट करने का प्रस्ताव दिया है।

अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन की तरफ से 15 सदस्यीय सुरक्षा परिषद प्रतिबंध समिति को अजहर मसूद की वैश्विक यात्रा पर प्रतिबंध और संपत्ति को जब्त करने के लिए कहा है। रायटर्स के मुताबिक समिति ने इस प्रस्ताव पर आपत्ति दर्ज कराने के लिए 13 मार्च तक का समय दिया है।

दरअसल 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले की जिम्मेदारी जैश न ही ली थी। हलांकि इस प्रस्ताव पर चीन का क्या रुख रहेगा इसपर संदेह जताया जा रहा है। क्योंकि इससे पहले भी जैश सरगना मसूद अजहर पर प्रतिबंध का प्रस्ताव संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में लाया गया था। लेकिन चीन के वीटो ने प्रस्ताव को पास नहीं होने दिया। हलांकि इस नए प्रस्ताव पर अबतक चीन का पक्ष सामने नहीं आया है।

भारत ने इससे पहले 2009 में ही संयुक्त राष्ट्र में मसूद अजहर के खिलाफ प्रस्ताव पेश कर चुका है। इसके बाद भारत ने 2016 और 2017 में भी मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने का प्रस्ताव दिया था। लेकिन तब चीन ने इसका विरोध किया था। और तब प्रस्ताव पास नहीं हो सका था।

(Visited 11 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *