अमेरिका से पाकिस्तान को करारा तमाचा, हिज्बुल सरगना सलाउद्दीन अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित

नई दिल्ली:  आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत को बड़ी कामयाबी मिली है। भारत को ये कामयाबी पीएम मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के बीच मुलाकात से ठीक पहले मिली। अमेरिका ने हिज्बुल आतंकी सैयद सलाउद्दीन को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित कर दिया है। अमेरिका ने सलाउद्दीन को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करने के साथ ही कश्मीर में हुए हिज्बुल आतंकी हमलों का भी जिक्र किया है।

सैयद सलाउद्दीन आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिद्दीन का सरगना है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि पिछले साल कश्मीर में हुए आतंकी हमलों में सलाउद्दीन का हाथ था। और वह कश्मीर घाटी में आतंक फैलाने के मकसद से आतंकियों को ट्रेनिंग देता था। सैयद सलाउद्दीन के आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन ने कश्मीर में हुए हमले की जिम्मेदारी भी ली थी। अप्रैल 2014 में हुए धमाके में 17 लोगों की मौत हो गई थी। इन सभी वारदातों को आतंकवाद की श्रेणी में रखते हुए सलाउद्दीन को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित किया गया है।

अमेरिका के इस कदम के बाद विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने कहा इस फैसले से हमारे रूख पर मुहर लगी है। क्योंकि भारत शुरु से ही यह कहता आया है कि कश्मीर में अशांति के पीछे सीमा पार से आने वाले आतंकियों का हाथ है। सैयद सलाउद्दीन का आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिद्दीन पीओके से संचालित होता है।

अमेरिका में मोदी-ट्रंप मुलाकात में भी पाकिस्तान को सख्त चेतावनी दी गई है। जिसमें कहा गया है कि पाकिस्तान इस बात का ध्यान रखे कि उसके आतंकी दूसरे देश में जाकर आतंक ना फैलाए। इससे आगे कहा गया अगर ऐसा किया जाता है तो फिर पठानकोट, उरी जैसे हमलों के लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार माना जाएगा। साथ ही पाकिस्तान से ये भी कहा गया है कि वो आतंक को पनाह देना बंद करे।

Loading...

Leave a Reply