US से पाकिस्तान को बड़ा झटका, आर्थिक मदद के लिए पहले ये शर्त पूरी करो




नई दिल्ली: अमेरिका से आर्थिक मदद पाना अब पाकिस्तान के लिए आसान नहीं होगा। क्योंकि राष्ट्रपति ओबामा ने 2017 के 618 अरब डॉलर के रक्षा बजट पर हस्ताक्षर कर दिये हैं। जिसके बाद यह कानून बन गया है। इसमें भारत के साथ रक्षा सहयोग बढ़ाने पर जोर दिया गया है तो दूसरी तरफ पाकिस्तान के सामने आर्थिक मदद पाने के लिए कड़ी शर्त रख दी है।

सेनेट आर्म्ड सर्विसेज कमिटी के चेयरमैन जॉन मैक्कैन ने बजट की खास बातों को जारी किया। उन्होंने कहा इससे भारत-अमेरिका के बीच सुरक्षा सहयोग बढ़ेगा। बजट में कहा गया है दोनों देशों की एजेंसियों के बीच बेहतर तालमेल के जरिये अमेरिका-भारत रक्षा संबंध को मजबूत करने, रक्षा क्षेत्र से जुड़े अधिग्रहण और तकनीक को मजबूत और सुनिश्चित करने के लिए अलग से किसी शीर्ष अधिकारी को नियुक्त किया जाए।

बजट की शर्तों के मुताबिक पाकिस्तान को अमेरिका की तरफ से मिलने वाली वित्तीय मदद तभी दी जाएगी जब वह हक्कानी नेटवर्क के खिलाफ कड़े कदम उठाने के सबूत देगा। कोअशियल सपोर्ट फंड के तहत पाकिस्तान को अमेरिका से 90 करोड़ डॉलर अमेरिकी मदद मिलनी है। इनमें से 40 करोड़ की मदद पाने के लिए पाकिस्तान को चार शर्तों को पूरा करना होगा।

अमेरिकी रक्षा मंत्री को कांग्रेस में इसे प्रमाणित करना होगा कि पाकिस्तान हक्कानी नेटवर्क की गतिविधि पर रोक लगाने के लिए सैन्य कार्रवाई कर रहा है। और पाकिस्तान हक्कानी नेटवर्क अपनी जमीन का इस्तेमाल नहीं करने दे रहा है। इससे पहले 2016 के शुरुआत में अमेरिकी रक्षा मंत्री एश्टन कार्टर ने पाकिस्तान को यह सर्टिफिकेट देने से इनकार कर दिया था कि वह हक्कानी नेटवर्क के खिलाफ सख्त कदम उठा रहा है। इस वजह से पाकिस्तान को 30 करोड़ डॉलर की आर्थिक मदद नहीं मिली थी।

Loading...

Leave a Reply