यूपी विधानसभा मिला पाउडर विस्फोटक नहीं था? इसके बाद सरकार ने दी सफाई

लखनऊ:  यूपी विधानसभा मिला संदिग्ध पाउडर विस्फोटक नहीं था। आगरा फॉरेंसिक लैब की एक्सप्लोसिव रिपोर्ट में ये बात कही गई है। एबीपी न्यूज चैनल की तरफ से अपनी रिपोर्ट में ये दावा किया गया था कि आगरा फॉरेंसिक लैब की रिपोर्ट में साफ किया गया है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा में मिला पाउडर विस्फोटक नहीं था। जबकि इससे पहले सरकार की तरफ से कहा गया था कि यूपी विधानसभा में मिला पउडर अत्यधिक विस्फोटक PETN था।

चैनल ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि उसे सूत्रों से ये जानकारी मिली है कि आगरा के फॉरेंसिक लैब की एक्सप्लोसिव रिपोर्ट में बताया गया है कि सपा विधायक की सीट के नीचे से निकले पाउडर में विस्फोटक नहीं है। इस पाउडर की जांच लैब के चार सीनियर वैज्ञानिकों की टीम ने की है। पाउडर की जांच लैब के डिप्टी डायरेक्टर एके मित्तल की अगुवाई में हुई है। जांच के बाद पाउडर में विस्फोटक के कण नहीं मिले हैं। जांच टीम में विस्फोटक जांच के एक्सपर्ट भी शामिल थे।

विस्फोटक मिलने के बाद पाउडर को जांच के लिए आगरा और हैदराबाद की लैब में जांच के लिए भेजा गया था। आगरा की लैब ने अपनी रिपोर्ट पुलिस के आला अधिकारी को दे दी है। लेकिन बड़े अधिकारियों ने इसपर चुप्पी साध रखी है। क्योंकि जिसे खुद सीएम योगी आदित्यनाथ तक आतंकी साजिश बता चुके हैं दरअसल वो संदिग्ध पाउडर विस्फोटक था ही नहीं।

चैनल की इस रिपोर्ट पर यूपी सरकार ने सफाई दी है। यूपी सरकार की तरफ से कहा गया है कि विधानसभा में मिले पाउडर को जांच के लिए आगरा भेजा ही नहीं गया था। क्योंकि आगरा में उस टेस्ट की सुविधा ही नहीं है।

Loading...