योगी के मंत्री के गार्ड की पिस्टल से 50 लाख की मशीन बेकार हो गई

लखनऊ:  सरकार के मंत्री को मिली सुरक्षा कई बार आम लोगों के लिए मुसीबत बन जाती है। नतीजा ये होता है कि मंत्री जी तो अपने वीवीआईपी कल्चर का तमगा लेकर कहीं और निकल जाते हैं लेकिन मुश्किल में पड़ जाती है पीछे छूट गई जनता। ऐसा ही कुछ हुआ यूपी के लखनऊ में। जहां योगी सरकार के खादी ग्रामोद्योग मंत्री सत्यदेव पचौरी अपना एमआरआई कराने पहुंचे। सत्यदेव पचौरी को लोहिया आर्युविज्ञान संस्थान में एमआरआई रूम में ले जाया गया। लेकिन उनके पीछे पीछे उनका अर्दली उनका सुरक्षा गार्ड भी एमआरआई रूम के भीतर दाखिल हो गया। जो बिल्कुल गलत है।

सत्यदेव पचौरी को जब एमआरआई के ले जाया गया तो उनका गार्ड कुछ देर तक बाहर ही रहा। लेकिन कुछ देर बाद मना करने के बावजूद वो एमआरआई रूम के भीतर पहुंच गया। रूम में दाखिल होते ही एमआरआई के मैग्नेटिक फील्ड के संपर्क में आने की वजह से गार्ड की पिस्टल एमआरआई मशीन से जाकर चिपक गई। जबकि नियम के मुताबिक एमआरआई रुम में किसी तरह का धातु ले जाना मना होता है। लेकिन वीवीआईपी कल्चर के नशे में गार्ड ने इन तमाम निर्देशों को मानने से मना कर दिया।

गार्ड की पिस्टल लोड की हुई थी। लेकिन एमआरआई मशीन के मैग्नेटिक फील्ड के संपर्क में आने के बाद पिस्टल मशीन से जाकर चिपक गई। जिसके बाद मशीन ने काम करना बंद कर दिया। अब अस्पताल की तरफ से बताया जा रहा है कि इसे ठीक करवाने में तकरीबन 8 से 10 दिन लग जाएंगे। चुकी पिस्टल गोलियों से भरी है इसलिए उसे हटाने में भी परेशानी हो रही है। यही नहीं मशीन को ठीक करवाने में तकरीबन 80 हजार का खर्च आएगा।

गार्ड की इस करतूत और निर्देशों को नहीं मानने का खामियाजा अस्पताल में आने वाले मरीजों को उठाना पड़ रहा है। क्योंकि मशीन काम कर नहीं रही है और लखनऊ में इस तरह की एमआरआई मशीन काफी कम है।

इसे भी पढ़ें

अमिताभ ने कहा ‘फिर से’ और डांस करने लगी सीएम की पत्नी, वीडियो वायरल

सलमान-कटरीना के बीच दूरी खत्म न्यूयॉर्क में मिले गले, वीडियो वायरल

Loading...