यूपी के मदरसा में गाना ही होगा राष्ट्रगान, इलाहाबाद हाईकोर्ट से नहीं मिली छूट

लखनऊ:  यूपी में मदरसा में राष्ट्रगान गाने से छूट मांगने वाली याचिका इलाहाबाद हाईकोर्ट ने खारिज कर दी है। योगी सरकार के फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई थी। याचिका खारिज करते हुए हाईकोर्ट ने कहा कि राष्ट्रगान और राष्ट्रध्वज का सम्मान करना सभी नागरिकों का संवैधानिक कर्तव्य है। इसलिए जाति, धर्म और भाषा के आधार पर इसमें किसी तरह का भेदभाव नहीं किया जा सकता है।

अलाउल मुस्तफा ने राज्य सरकार के आदेश के खिलाफ राष्ट्रगान गाने से छूट के लिए याचिका दाखिल की थी। इसमें 6 सितंबर 2017 के राज्य सरकार के आदेश को चुनौती दी गई थी। लेकिन कोर्ट के सामने मुस्तफा की दलील काम नहीं आई और याचिका खारिज कर दी गई।

इससे पहले कोर्ट ने यूपी सरकार से जवाब तलब किया था। यूपी के सभी मदरसों को यूपी मदरसा शिक्षा बोर्ड की तरफ से आदेश जारी किया गया था। जिसके मुताबिक मदरसों को 15 अगस्त के दिन राष्ट्रध्वज फहराने और राष्ट्रगान का आदेश दिया गया था। इस पूरे समारोह की वीडियोग्राफी के भी आदेश दिये गए थे। योगी सरकार के इस आदेश के बाद यूपी के मदरसों में राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया था और राष्ट्रगान भी गाए गए थे।

Loading...

Leave a Reply