यूपी के राज्यपाल ने सीएम अखिलेश से पूछा ‘प्रजापति अबतक क्यों हैं कैबिनेट मंत्री?’




लखनऊ:  गैंगरेप के आरोपी गायत्री प्रजापति पर यूपी सरकार के सरदार अखिलेश यादव की हर तरफ फजीहत हो रही है। राजनीतिक दलों से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक सरकार की नीयत पर सवाल उठा चुका है। राज्यपाल राम नाइक जो अबतक इस मामले पर चुप थे उन्होंने भी गायत्री प्रजापति पर सीएम अखिलेश यादव से स्पष्टीकरण मांगा है।

सूत्रों के मुताबिक राज्यपाल राम नाईक ने पत्र लिखकर अखिलेश यादव से पूछा है गैंगरेप के आरोप गायत्री को मंत्रिमंडल में बनाए रखने का क्या कारण है? राज्यपाल की तरफ से लिखे गए पत्र में कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट ने गायत्री प्रजापति पर एक महिला और उसकी नाबालिग बेटी के साथ गैंगरेप के आरोप में संज्ञान लिया है। उसके खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी किया गया है। पत्र में आगे लिखा गया है इस तरह के मंत्री के कैबिनेट में बने रहने और उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं किये जाने से लोकतांत्रिक शुचिता, संवैधानिक मर्यादा और संवैधानिक नैतिकता पर गंभीर प्रश्न खड़ा होता है।

अब नहीं बचेगा अखिलेश का ‘गायत्री’ गैरजमानती वारंट जारी, विदेश भागने के रास्ते बंद

राजभवन के प्रवक्ता के मुताबिक मुख्यमंत्री प्रजापति के कैबिनेट में बने रहने की वजह पर अपनी राय जल्द देने को कहा गया है। पत्र में लिखा गया है कि इलेक्ट्रॉनिक मीडिया और समाचार पत्रों के माध्यम से पता चला कि खुद मुख्यमंत्री ने भी सार्वजनिक रुप से कहा है कि प्रजापति को बिना देरी किये सरेंडर कर देना चाहिए। परंतु जैसा ज्ञात होता प्रजापति ने अभी तक सरेंडर नहीं किया है। वह फरार चल रहे हैं और विदेश भागने की फिराक में हैं।

प्रजापति का नाम लेकर अखिलेश पर प्रहार, अमित शाह बोले हम पाताल से ढूंढ निकालेंगे उसे

समाजवादी पर्टी के विधायक, अमेठी से समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार, अखिलेश सरकार में मंत्री और गैंगरेप के आरोपी गायत्री प्रजापति के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी किया जा चुका है। यही नहीं गायत्री का पासपोर्ट भी सरेंडर कर दिया गया है। पासपोर्ट सरेंडर करने के लिए शनिवार को खासतौर से पासपोर्ट कार्यालय खुलवाए गए। गायत्री के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर भी जारी कर दिया गया है।

गायत्री प्रजापति की तलाश में कानपुर में पुलिस ने कई जगहों पर छापेमारी भी की है। कुछ दिनों पहले खुफिया एजेंसियों को जानकारी मिली थी कि वह नेपाल के रास्ते विदेश भागने की फिराक में है। जिसके बाद एयरपोर्ट पर भी निगरानी बढ़ा दी गई थी।

Loading...