सहारनपुर हिंसा पर यूपी सरकार ने केंद्र सरकार को भेजी रिपोर्ट

लखनऊ:  यूपी के सहारनपुर में हुई हिंसा पर यूपी सरकार ने केंद्र सरकार को रिपोर्ट सौंप दी है। रिपोर्ट में राज्य सरकार की तरफ से कहा गया है कि अब हालात काबू में है। यूपी सरकार ने 5,23 मई को हुई हिंसा की रिपोर्ट केंद्र सरकार को भेजी है। वहां हालात को काबू में रखने के लिए आरएएफ की तीन कंपनियां सहारनपुर भेजी गई है।

दरअसल सहारनपुर में हुई हिंसा के बाद केंद्र सरकार ने अपनी नाराजगी जताई थी। जिसमें राज्य सरकार से रिपोर्ट भी तलब किया गया था। केंद्र की तरफ से पूछा गया था प्रशासन हिंसा को रोकने में नाकाम क्यों रहा। केंद्र की चिंता इस बात को लेकर भी है कि सहारनपुर हिंसा की चिंगारी राज्य के दूसरे जिले में न पहुंच जाए।

आईबी की रिपोर्ट भी इसी तरफ इशारा करती है। जिसमें कहा गया था कि अगर सहारनपुर की हिंसा को जल्दी नहीं रोका गया तो ये पश्चिमी उत्तर प्रदेश के दूसरे जिलों में भी असर डाल सकता है। रिपोर्ट में ये जिक्र भी किया गया था कि राजनीतिक और धार्मिक पक्ष इस हिंसा में दोनों पक्षों को उकसाने में लगे हैं।

सहारनपुर में हालात इस कदर बिगड़ने के पीछे भीम आर्मी नाम के दलित समर्थक संगठन को भी जिम्मेवार बताया जा रहा है। भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद की भी तलाश की जा रही है। वहीं इसपर लोकल इंटेलिजेंस यूनिट ने राज्य सरकार को सौंपी अपनी रिपोर्ट में कहा बीएसपी सुप्रीमो मायावती के भाई लगातार भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद के संपर्क में थे।

हलांकि मायावती ने इसका खंडन करते हुए कहा कि भीम आर्मी से उनका कोई संबंध नहीं है। मायावती ने बीजेपी पर ठीकरा फोड़ते हुए कहा भीम आर्मी का संबंध बीजेपी से जोड़ दिया।

Loading...