UP ओपिनियन पोल- त्रिशंकु विधानसभा के आसार लेकिन सपा को 141-151 सीट का अनुमान




नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव पर सीएसडीएस और एबीपी न्यूज ने ओपिनियन पोल किया। इसके रुझान चौंकानेवाले हैं। इस ओपिनियन पोल को नोटबंदी के बाद और समाजवादी पार्टी में कलह से पहले किया गया। इस ओपिनिय पोल को 5 दिसंबर और 17 दिसंबर के बीच किया गया।

इसे यूपी के 65 विधानसभा सीटों पर कराया गया जिसमें 5000 लोगों की राय ली गई। ओपिनियन पोल के मुताबिक सीएम के तौर पर अखिलेश पहली पसंद हैं सीएम के तौर पर अखिलेश को 28 फीसदी लोगों ने पसंद किया। जबकि सीएम के तौर पर मायावती दूसरी पसंद हैं।

इस ओपिनियन पोल में लोगों से लोकप्रिय नेता का नाम पूछा गया। जिसमें 83 फीसदी लोगों ने अखिलेश को बताया और 6 फीसदी लोगों ने मुलायम का नाम लिया। जब लोगों से पूछा गया कि अखिलेश और मुलायम में सीएम कौन बने तो 37 फीसदी लोगों ने अखिलेश का नाम लिया, 33 फीसदी ने मुलायम का नाम लिया।

यूपी में सीएम के तौर पर सबसे ज्यादा अखिलेश पसंद किये गए। उन्हें 28 फीसदी लोगों ने पसंद किया। जबकि मायावती को 21 फीसदी, योगी आदित्यनाथ को 4 फीसदी और मुलायम को 3 फीसदी लोगों ने सीएम के तौर पर पसंद किया।

जब लोगों से अखिलेश मायावती की सरकार के कामकाज के बारे में पूछा गया तो 45 फीसदी लोगों ने कहा अखिलेश की सरकार मायावती से अच्छी है।
सपा में झगड़े के लिए 25 फीसदी लोगों ने शिवपाल को जिम्मेदार बताया जबकि 6 फीसदी लोगों ने अखिलेश को जिम्मेदार बताया।

यूपी में 54 फीसदी मुस्लिम वोट समाजवादी पार्टी के साथ है। 75 फीसदी यादव वोटर सपा के साथ हैं,55 फीसदी सवर्ण वोटर बीजेपी के पक्ष में हैं, 74 फीसदी जाटव वोटर बीएसपी के साथ हैं, 56 फीसदी कुल दलित वोटर मायावती के साथ हैं।

यूपी के अलग अलग इलाकों की बात करें तो ईस्ट यूपी में 33 फीसदी वोट समाजवादी पार्टी के पक्ष में हैं, 30 फीसदी वोट बीजेपी के पक्ष में हैं। वेस्ट यूपी में 37 फीसदी वोट बीजेपी के साथ हैं जबकि 16 फीसदी वोट समाजवादी पार्टी के साथ हैं।

लेकिन ओपिनियन पोल में किसी पार्टी को बहुमत मिलता हुआ नहीं दिख रहा है। समाजवादी पार्टी सबसे बड़ी पार्टी जरुर बनी है लेकिन बहुमत उसके पास भी नहीं है।

  1. समाजवादी पार्टी- 141-151
  2. बीजेपी 129-139
  3. बीएसपी- 93-103
  4. कांग्रेस- 13-19

जनता से ये सवाल भी किये गए कि अगर अखिलेश और मुलायम अलग अलग चुनाव लड़ते हैं तो क्या होगा। इस हालत में :-

  1. समाजवादी पार्टी- (अखिलेश गुट)- 82-92
  2. समाजवादी पार्टी- (मुलायम गुट)- 9-15
  3. बीजेपी – 158-168
  4. बीएसपी- 110-120
  5. कांग्रेस- 14-20

यानि अगर अखिलेश और मुलायम अलग होते हैं तो उन्हें भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है। लेकिन बीजेपी को यहां फायदा होता हुआ दिखाई दे रहा है। लेकिन इस पूरे ओपिनियन पोल में बीएसपी हर जगह पिछड़ रही है।

Loading...