यूपी में बैकफुट पर BJP और फ्रंट फुट पर आईं मायावती !

यूपी में सबकुछ सही चल रहा था। मायावती को शुरुआती झटके लगे थे। स्वामी प्रसाद मौर्य ने बीएसपी छोड़ दी। भविष्य में और नेता भी मायावती का साथ छोड़ सकते थे। यूपी चुनाव को लेकर कांग्रेस की रणनीति करीब-करीब सामने आ चुकी है। अब वक्त था BJP को अपनी रणनीति ताजा हालात में नये तरीके से तय करने की।

बीएसपी हाल के दिनों में काफी शांत दिखाई दे रही थी। इसकी वजह ये थी कि पार्टी के पास चर्चा में रहने के लिए ज्यादा कुछ बचा नहीं था। बीएसपी के दलित वोटबैंक पर BJP अपनी परछाईं डालने की कोशिश में जुटी थी। मायावती पुराने वफादार और नए बागी के बीच का फर्क पता करने में व्यस्त थीं।
लेकिन अचानक सबकुछ इधर से उधर हो गया। जो बीएसपी बैकफुट पर नजर आ रही थी वो फ्रंटफुट पर आकर हमला करने लगी। और जो BJP फ्रंट फुट की तरफ बढ़ रही थी वो अचानक पीछे आ गई। इसकी वजह थी BJP के ही पूर्व उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह की बदजुबानी। उधर दयाशंकर की जुबान फिसली इधर यूपी की सियासत में संभलकर आगे बढ़ रही BJP नीचे सरक गई।

हलांकी BJP की तरफ से इस बात की पूरी कोशिश की गई कि नुकसान कम से कम हो। आनन फानन में दयाशंकर को उपाध्यक्ष के पद से हटाया गया। लेकिन इतना काफी नहीं था। जिसके बाद बुधवार देर रात पार्टी को ये एहसास हुआ कि दयाशंकर को पार्टी से निकालने में ही भलाई है। इसलिए 6 साल के लिए उसे निष्कासित भी कर दिया। लेकिन तबतक काफी नुकसान हो चुका था। मायावती अपने कार्यकर्ताओं को इशारा कर चुकी थीं कि दयाशंकर की इस गलती को माफ मत करना। राज्यसभा में जब इस मुद्दे पर हंगामा मचा था तभी बीएसपी सांसद सतीष मिश्रा ने कहा था अगर कल बीएसपी कार्यकर्ता भड़क जाएं को इसके लिए जिम्मेदार बीएसपी नहीं बीजेपी होगी। नतीजा अगले दिन गुरुवार को लखनऊ की सड़कों पर बहनजी के समर्थक जुट गए बदजुबानी का हिसाब मांगने।

दयाशंकर ने मायावती को BJP को कटघरे में खड़ा करने की वजह दे दी। भले ही BJP नेता कह रहे हैं कि पार्टी ने जिम्मेदारी दिखाते हुए दयाशंकर को निष्कासित कर दिया। लेकिन बीएसपी की कोशिश BJP को ज्यादा से ज्यादा नुकसान पहुंचाने की है। काफी हद तक ये भी संभव है कि जिस तरह से लखनऊ में बीएसपी कार्यकर्ता, विधायक, पार्टी पदाधिकारी का मजमा लगा है उसके बाद कोशिश ये है कि इस मुद्दे को चुनाव तक जिंदा रखा जाए। क्योंकि सियासत में सयाना वही होता है जो सही वक्त पर शिकार कर ले।

Loading...