पर्ची वाली VVPAT वोटिंग में भी जीत गई बीजेपी, यूपी में 20 जगहों पर लगाए गए थे




नई दिल्ली: यूपी विधानसभा चुनाव में ईवीएम से वोटिंग पर कई तरह के सवाल खड़े किये जा रहे हैं। सवाल पंजाब में भी उठाए जा रहे हैं क्योंकि वहां आम आदमी पार्टी को अनुमान के मुताबिक वोट नहीं मिले। बीएसपी सुप्रीमो मायावती तो ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायत लेकर अदालत जाने की तैयारी कर रही हैं।

केजरीवाल ने कहा था कि चुनाव आयोग ने पंजाब में कई जगहों पर वोटर वेरीफाइड पेपर ऑडिट ट्रेल यानि VVPAT का इस्तेमाल किया था। जिसमें वोट डालने के कुछ सेकेंड बाद एक पर्ची निकलती है। थोड़े देर के बाद वो पर्ची वहां रखे बॉक्स में गिर जाती है। उस पर्ची में ये लिखा होता है कि मतदाता ने किस पार्टी को वोट दिया। चुनाव खत्म होने के बाद चुनाव आयोग पर्टी वाले उस बक्से को भी सील कर देता है। केजरीवाल की मांग थी कि ईवीएम को छोड़कर VVPAT की उन पर्चियों की दोबारा गिनती कर ली जाए।

चुनाव आयोग ने यूपी विधानसभा चुनाव में भी 20 विधानसभा में VVPAT का इस्तेमाल किया था। जिन 20 विधानसभाओं में VVPAT का इस्तेमाल किया गया था उनमें से 17 सीटों पर बीजेपी को जीत मिली। जबकि 3 सीटों पर समाजवादी पार्टी को जीत मिली। इस बात के सामने आने के बाद अब विरोधी दलों के उस दावे पर ही सवाल खड़े हो रहे हैं जिसमें ईवीएम मशीन से छेड़छाड़ की बात की जा रही है।

किन किन जगहों पर लगाया गया था VVPAT?
लखनऊ वेस्ट, लखनऊ नॉर्थ, लखनऊ ईस्ट, आगरा कैंट, आगरा साउथ, अलीगढ़, बरेली, गोविंद नगर, आर्य नगर, गाजियाबाद, मेरठ, मुरादाबाद नगर, सहारनपुर, इलाहाबाद नॉर्थ, इलाहाबाद साउथ, अयोध्या, गोरखपुर शहरी, झांसी नगर, वाराणसी कैंट, वाराणसी नॉर्थ। इनमें से केवल आर्य नगर, मेरठ, सहारनपुर में समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार जीते थे बाकी 17 जगहों पर बीजेपी को जीत मिली थी।

Loading...