यूपी चुनाव अभियान से नाम वापस ले सकती हैं शीला दीक्षित?




नई दिल्ली: यूपी चुनाव में कांग्रेस के लिए ये खबर मुश्किल साबित हो सकती है। सूत्रों के हवाले से खबर ये है कि शीला दीक्षित यूपी चुनाव अभियान से नाम वापस ले सकती हैं। शीला दीक्षित को कांग्रेस ने यूपी में अपना सीएम उम्मीदवार बनाया है। खबर है कि वो सीएम की उम्मीदवारी से भी नाम वापस ले सकती हैं। सहारा डायरी में शीला दीक्षित का नाम आने के बाद से ही वो नाराज चल रही हैं।

शीला की नाराजगी का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि चुनाव से जुड़ी बैठकों में भी वो शामिल नहीं हो रही हैं। सहारा डायरी में नाम आने के बाद से पार्टी की तरफ से भी उन्हें समर्थन नहीं मिल रहा है। पार्टी के नेता खुद को शीला से अलग रख रहे हैं। यही वजह है कि शीला दीक्षित अब यूपी चुनाव अभियान से अलग होना चाहती हैं।

दरअसल पिछले दिनों कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा था कि सहारा ने पीएम मोदी को 6 महीने में 9 बार में 40 करोड़ रुपये दिये। उन्हेंने कहा था कि आयकर विभाग की छापेमारी में जो लिस्ट बरामद की गई उसमें इसका जिक्र है।

sahara-listराहुल के इस आरोप के बाद कांग्रेस ने अपने ट्वीटर हैंडल पर एक लिस्ट जारी की थी। जिसके बारे में बताया गया कि ये वही लिस्ट है जिसे आयकर विभाग ने सहारा के दफ्तर पर छापेमारी में बरामद किया था। उस लिस्ट में दिल्ली सीएम के आगे 1 करोड़ रुपया लिखा था। कांग्रेस के मुताबिक लिस्ट 2013 की है। उस वक्त दिल्ली की सीएम शीला दीक्षित थीं। इसके बाद सवाल ये उठने शुरु हो गए थे कि क्या सहारा ने शीला दीक्षित को भी पैसे दिये थे?

लिस्ट में दिल्ली की सीएम को 23 सितंबर 2013 को 1 करोड़ देने का जिक्र है। शीला दीक्षित दिसंबर 2013 तक दिल्ली की सीएम थीं। वहीं इस तथाकथित लिस्ट में गुजरात के सीएम मोदी को 5-5 करोड़ रुपये 7 बार और दो बार 2.5 करोड़ रुपये देने का जिक्र है। मोदी को मिले इसी पैसे की जांच की मांग राहुल गांधी कर रहे हैं।

Loading...

Leave a Reply