Mayawati को गाली देना UP BJP उपाध्यक्ष को पड़ा भारी, छिन गई कुर्सी

यूपी BJP के उपाध्यक्ष दयाशंकर ने बीएसपी सुप्रीमो Mayawati के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया है। दयांशकर ने क्या कहा था Mayawati के लिए उसके बारे में यहां तो जिक्र नहीं किया जा सकता। लेकिन अगर भाषा की मर्यादा के दृष्टिकोण से देखा जाए तो उसे उचित नहीं ठहराया जा सकता।
दयाशंकर ने शुरुआत में तो Mayawati पर ये आरोप लगाए कि वो पार्टी का टिकट बेचती हैं। जो जितनी ज्यादा रकम देता है उसे बीएसपी का टिकट दे देती है। लेकिन कहते कहते दयाशंकर गलत दिशा में बह गए और कुछ ऐसा कह गए जिसके चलते उन्हें अपनी कुर्सी तक गंवानी पड़ी।

Mayawati के खिलाफ आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल करने की वजह से दयाशंकर को यूपी BJP के उपाध्यक्ष के पद से हटा दिया गया है। साथ ही पार्टी ने दयाशंकर को पार्टी की सभी जिम्मेदारियों से मुक्त कर दिया है।

दयाशंकर के बयान के बाद राज्यसभा में भी इस मामले पर काफी हंगामा हुआ। बीएसपी सुप्रीमो Mayawati ने BJP पर निशाना साधते हुए कहा कि ‘BJP यूपी में सत्ता के सपने देख रही है और उसकी ये असलियत है। राज्य में बीएसपी के बढ़ते जनाधार से BJP बौखला गई है। इस तरह की सोच से BJP के स्तर का पता चलता है। Mayawati ने कहा कि दयाशंकर ने मुझे नहीं अपनी बहन और बेटी के लिए इस तरह के शब्दों का इस्तेमाल किया है।‘

हलांकी BJP ने दयाशंकर के बयान की निंदा की थी। अरुण जेटली ने राज्यसभा में कहा कि वो इस तरह के बयान से निजी तौर पर आहत हैं। लेकिन इतने से बात नहीं बनी। बीएसपी की तरफ से दयाशंकर पर कार्रवाई की मांग की जा रही थी। बीएसपी सांसद सतीष मिश्रा ने दयाशंकर की गिरफ्तारी की मांग की।

दयाशंकर ने Mayawati के खिलाफ उस वक्त आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल किया है जब BJP पर उना में दलितों की पिटाई के मामले पर विपक्ष हमलावर है। संसद के दोनों सदनों में दिनभर उना का मामला छाया रहा। सरकार जवाब देती रही। पार्टी की फजीहत में रही सही कसर यूपी BJP के उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह ने पूरी कर दी।

पार्टी ने भी दयाशंकर से दूरी बनाने में ही अपनी भलाई समझी। क्योंकि अगले साल यूपी में विधानसभा चुनाव है। यूपी में एक एक बोट BJP के लिए अहम है। रणनीति पूरी तैयार हुई नहीं है उपर से दयाशंकर टाइप के बयान पार्टी की मुश्किल बढ़ा सकती है। इसलिए BJP ने दयाशंकर को पार्टी की सारी जिम्मेदारियों से ही मुक्त कर दिया।

Loading...

Leave a Reply