अमेरिका ने पाकिस्तान की $255 मिलियन की सैन्य सहायता रोकी

नई दिल्ली:  अमेरिका से पाकिस्ता को बड़ा झटका लगा है। अमेरिका ने पाकिस्तान को दी जानेवाली $255 मिलियन की सैन्य सहायता रोक दी है। 1 जनवरी को राष्ट्रपति ट्रंप के ट्वीट के बाद ये कार्रवाई की गई है। अपने ट्वीट में ट्रंप ने पाकिस्तान पर आतंकवाद को लेकर झूठ बोलने और अमेरिका को मूर्ख बनाने का आरोप लगाया था।

ट्रंप ने पाकिस्तान पर आरोप लगाते हुए 1 जनवरी को ट्वीट किया था कि पिछले 15 सालों में 33 अरब डॉलर की सहायता के बदले पाकिस्तान ने अमेरिका को झूठ और धोखे के सिवा कुछ नहीं दिया है। पाकिस्तान ने आतंकियों को सुरक्षित पनाहगाह मुहैया कराई। अमेरिका ने मूर्खतापूर्ण तरीके से पाकिस्तान को पिछले 15 सालों में 33 अरब डॉलर से अधिक की सहायता दी और उन्होंने हमारे नेताओं को मूर्ख समझते हुए हमें झूठ और धोखे के अलावा कुछ भी नहीं दिया।

ट्रंप के उस ट्वीट के बाद पाकिस्तान के माथे पर भी शिकन आ गई थी। जिसके बाद उसने आनन फानन में हाफिज सईद के ट्रस्ट को मिलने वाले चंदे पर रोक लगा दी थी। मौजूदा हालात पर बातचीत के लिए पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी से मुलाकात की।

अमेरिका की तरफ से सैन्य सहायता रोकने के बाद पाकिस्तानी प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी ने बुधवार को अहम बैठक बुलाई है। पाकिस्तान ने अमेरिकी राजदूत को समन कर विरोध जताया। पाकिस्तान को $255 मिलियन की सैन्य सहायता रोकने की पुष्टि व्हाइट हाउस ने भी कर दी है।

पाकिस्तान ने हाफिज सईद के संगठन जमात उद दावा के चंदे पर पूरी तरह से रोक लगा दी है। हाफिज के एक और संगठन फलाह इ इंसानियत फाउंडेशन की फंडिंग को भी प्रतिबंधित कर दिया है। सिक्यूरिटी एंड एक्सचेंज कमीशन ऑफ पाकिस्तान ने इसे लेकर नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया है।

Loading...