मोदी सरकार का आखिरी बजट, जानिये क्या हुआ सस्ता और क्या हुआ महंगा

नई दिल्ली:  वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सरकार का आखिरी पूर्ण बजट पेश किया। सरकार के इस आखिरी बजट में मध्यम वर्ग को कोई खास राहत नहीं मिली लेकिन गरीब तबके को लोगों को राहत जरूर मिली है। सरकार ने इनकम टैक्स पर सेस तीन फीसदी से बढ़ा कर चार फीसदी कर दी है जिसकी वजह से टैक्स महंगा हो गया।

सरकार ने 10 करोड़ लोगों का एक साल में 5 लाख तक का मेडिकल बीमा कराएगी। लेकिन नौकरी पेशा लोग इसबार खाली हाथ रह गए। भले ही सरकार ने 40 हजार का स्टैंडर्ड डिडक्शन दिया है लेकिन ट्रांसपोर्ट और मेडिकल अलाउंस को मिलाकर तकरीबन 34 हजार की छूट को खत्म कर दिया है। यानि सरकार ने कुछ खास दिया नहीं। टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी घटा दी है। जिससे ये जरुर होगा कि पेट्रोल-डीजल 2 रुपये सस्ता हो जाएंगे। पेट्रोल-डीजल की नई कीमत आज आधी रात से लागू होगी।

आईये जानते हैं बजट से क्या महंगा हुआ

विदेश से आयात की जाने वाली वस्तुओं पर कस्टम ड्यूटी 20 फीसदी बढ़ा दी है।

मोबाइल फोन पर कस्टम ड्यूटी 20 फीसदी बढ़ा दी गई है। यानि मोबाइल फोन महंगे हो जाएंगे

टीवी पर भी कस्टम ड्यूटी बढ़ाई गई है, यानि टीवी भी महंगा

इलेक्ट्रॉनिक सामान महंगे हो जाएंगे

घरेलू इलेक्ट्रॉनिक सामान पर भी महंगाई की मार

टीवी महंगा होगा

फ्रिज के दाम बढ़ेंगे

इंपोर्टेड टीवी पैनल पर आयात शुल्क 7.5 फीसदी से बढ़ाकर 15 फीसदी करने का प्रस्ताव है

एलसीडी-एलईडी टीवी सेट महंगे होंगे

गाड़ियों के कलपुर्जे महंगे होंगे

फुटवियर, फर्नीचर महंगे होंगे

Loading...