दिल्ली में क्लास रुम में 12वीं के छात्रों ने शिक्षक की हत्या कर दी

दिल्ली: नांगलोई में सुल्तानपुरी रोड पर बने उस सरकारी स्कूल के क्लास रुम में परीक्षा चल रही थी। शिक्षक जिनका नाम मुकेश कुमार था वो क्लास में मौजूद थे। उस वक्त समय शाम के तकरीबन 5 बज रहे थे। 12वीं में पढ़ने वाले दो छात्र शिक्षक मुकेश कुमार के करीब आए और दोनों ने उनपर चाकुओं से ताबड़तोड़ वार शुरु कर दिया। जब मुकेश कुमार बेहोश होकर जमीन पर गिर पड़े तब दोनों छात्र वहां से फरार हो गए। बाद में पुलिस ने दोनों आरोपी छात्रों को हिरासत में लिया। दोनों छात्रों ने खुद के नाबालिग होने का दावा किया है।

बताया जा रहा है की दोनों छात्रों की पहले भी कई बार स्कूल में शिकायत आ चुकी थी। उन्हें स्कूल से रेस्टिगेट भी किया गया था। लेकिन दोनों छात्रों के माता-पिता की तरफ से माफी मांगी गई थी जिसके बाद दोनों छात्रों को दोबारा स्कूल में एडमिशन दिया गया था। लेकिन उसके बाद भी उनका पुराना रवैया कायम रहा था।

26 सितंबर को भी यही हुआ। उस दिन स्कूल में 12वीं के इम्तिहान चल रहे थे। लेकिन हाजिरी कम होने की वजह से इन दोनों छात्रों को परीक्षा में शामिल नहीं होने दिया गया था। जिससे वो नाराज चल रहे थे। जिस तरह से मुकेश की हत्या की गई उससे लग रहा है कि ये दोनों छात्र काफी दिनों से वारदात को अंजाम देने की फिराक में थे।

शिक्षक मुकेश को चाकू मारने की खबर जब स्कूल के दूसरे शिक्षकों तक पहुंची तो उन्होंने फैरन पुलिस को इसकी जानाकरी दी। मुकेश को अस्पताल ले जाया गया लेकिन सोमवार रात को उनकी मौत हो गई। स्कूल के क्लास रूम में हुई हत्या की इस वारदात के बाद शिक्षकों का भी गुस्सा भड़क उठा। दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया से शिक्षकों ने सुरक्षा के इंतजाम करने की मांग की है।

इस हत्या के विरोध में मंगलवार को स्कूल के शिक्षकों ने काम बंद कर दिया है। शिक्षकों का प्रदर्शन स्कूल से निकलकर सड़क पर पहुंचा। जहां उन्होंने दिल्ली-अमृतसर हाईवे को जाम कर दिया। शिक्षकों की मांग है कि जबतक उन्हें सुरक्षा का भरोसा नहीं दिया जाएगा तबतक वो काम पर नहीं लौटेंगे।
-News Trend India

Loading...

Leave a Reply