राज्यपाल के अध्यादेश को मंजूरी, तमिलनाडु में कल होगा जलीकट्टू




नई दिल्ली: तमिलनाडू में पूरे राज्य में रविवार को जलीकट्टू मनाया जाएगा। राज्य के मुख्यमंत्री पनीरसेल्वम इसका उद्घाटन करेंगे। जलीकट्टू को लेकर पिछले कई दिनों से लोग राज्य के अलग अलग जिलों में सड़कों पर जोरदार प्रदर्शन कर रहे थे। मरीना बीच पर लाखों लोग कई दिनों से जमा थे। उनकी मांग थी कि जलीकट्टू तमिलनाडु की संस्कृति की पहचान है इसलिए इसपर प्रतिबंध लगाना गलत है।

जलीकट्टू पर से प्रतिबंध हटाने को लेकर तमिलनाडु के सीएम पनीरसेल्वम पीएम मोदी से भी मिले थे। उन्होंने पीएम से अध्यादेश लाने को कहा था। लेकिन तब पीएम की तरफ से कहा गया था कि इस मुद्दे पर वो पूरा समर्थन करेंगे। इसके बाद राज्य के हालात को देखते हुए केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से जलीकट्टू पर फैसला टालने के लिए कहा था। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने हफ्तेभर के लिए फैसले को आगे टाल दिया था।

तमिलनाडु के कई फिल्मी सितारे भी जलीकट्टू के समर्थन में सड़कों पर आ गए थे। रजनीकांत और उनकी बेटी भी जलीकट्टू के समर्थन में प्रदर्शन में शामिल हुई थीं। इस मामले में साउथ के मशहूर एक्टर सूर्या ने जानवरों के अधिकारों के लिए काम करने वाली संस्था पेटा से बिना शर्त माफी मांगने को कहा है। सूर्या ने पेटा इंडिया को कानूनी नोटिस भी भेजा है।

पेटा इंडिया की तरफ से दावा किया गया था कि एक्टर ने अपनी फिल्म Si3 को प्रमोट करने के लिए जलीकट्टू का सपोर्ट किया। इसपर सूर्या का कहना था कि पेटा मानसिक दबाव में है वह माफी मांगे या कानूनी कार्रवाई का सामना करे। इसके जवाब में आंदोलनकारी मांग कर रहे हैं के खेल पर से बैन हटाकर पेटा इंडिया पर बैन लगाया जाए।

Loading...