रोज वैली घोटाले में TMC MP सुदीप बंदोपाध्याय गिरफ्तार, BJP के कोलकाता दफ्तर पर हमला




कोलकाता: रोजवैली घोटाले में TMC के सांसद सुदीप बंदोपाध्याय को गिरफ्तार कर लिया गया है। सुदीप ममता बनर्जी के बेहद ही करीबी सांसद हैं। सीबीआई ने सुदीप को पूछताछ के लिए बुलाया था। जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया। पिछले तीन दिनों में ये दूसरी गिरफ्तारी है। इससे पहले 31 दिसंबर को TMC के ही एक और सांसद तापस पाल को गिरफ्तार किया गया था।

सुदीप की गिरफ्तारी से नाराज TMC कार्यकर्ताओं ने कोलकाता में बीजेपी के दफ्तर पर हमला कर दिया। दफ्तर के बाहर बीजेपी और TMC कार्यकर्ताओं के बीच झड़प भी हुई। अपने दो सांसदों की गिरफ्तारी से नाराज ममता बनर्जी ने नरेंद्र मोदी और अमित शाह को गिरफ्तार करने की मांग की है।

रोज वैली घोटाला तकरीबन 15 हजार करोड़ का बताया जा रहा है। सुदीप मंगलवार को सीबीआई दफ्तर पहुंचे थे। उन्होंने कहा था कि वो यहां अपनी बात कहने आए हैं। सुदीप की गिरफ्तारी पर ममता ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा सरकार के खिलाफ कई पार्टियां बोलना चाहती हैं। लेकिन इमरजेंसी जैसे हालात की वजह से डरी हुई हैं।

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा घोटालों की वजह से बंगाल की इमेज खराब हुई है। यह केस कोर्ट के कहने पर दर्ज किया गया है। इसलिए ये नहीं कहा जा सकता कि इसे राजनीतिक बदला लेने के लिए किया गया है। उन्होंने आगे कहा लेकिन सीबीआई केंद्र सरकार के ईशारे पर काम कर रही है।

वहीं सुदीप की गिरफ्तारी का सीपीआई ने स्वागत किया है। सीपीआई ने कहा हम सीबीआई के कदम का स्वागत करते हैं। लेकिन गिरफ्तारी में काफी वक्त लगाया गया। अब जांच ममता के दरवाजे तक पहुंचेगी। सीपीआई नेता सलीम ने कहा रोजवैली घोटाला सारधा घोटाले से सात गुना बड़ा घोटाला है।

रोज वैली कंपनी ने देश के कई जमाकर्ताओं से 15 हजार करोड़ लिये। इसमें ज्यादातर पैसा पश्चिम बंगाल, असम और बिहार के लोगों का है। मार्च 2015 में प्रवर्तन निदेशालय ने रोज वैली के चेयरमैन गौतम कुंडु को पूछताछ के लिए बुलाया। जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। इसके बाद सीबीआई को सौंपी गई। प्रवर्तन निदेशालय ने कहा था कि इस चिट फंड घोटाले में नेताओं तक पैसे पहुंचाए गए।

Loading...