पूरी दुनिया Pokemon Go की हुई दीवानी, जाने क्या खास है इस गेम में ?

ट्वीटर, फेसबुक, फोन पर बातचीत, कैफेटेरिया में बैठ लोग यानि हर जगह एक चर्चा चल रही है। हर कोई एक खास ऐप के बारे मे बात करते हुए पाया जा रहा है। ये है  Pokemon Go। आपने भी इसके बारे मे सुना होगा। लेकिन अगर  Pokemon Go के बारे में आपकी जानकारी अधूरी है और आप इसके बारे में पूरा जानना चाहते हैं तो आगे पढ़िये।

 Pokemon Go एक ऑगमेंटेड रियलियी ऐप है। अगर सीधे तौर पर कहा जाए तो ये एक गेमिंग ऐप है। जो आपके फोन के इंटरनेट और जीपीसी और कैमरे को इस्तेमाल करता है। इस गेम में खिलाड़ी यानि आपको  Pokemon को असली दुनिया में घूमते हुए पकड़ना होता है।

Pokimon Go में गेमप्ले आपकी मौजूदगी वाली जगह के मुताबिक होता है। इसके लिए यह ऐप गूगल मैप्स का इस्तेमाल करता है। अगर आप किसी झील के पास हैं तो आपको पानी में  Pokemon को ढूंढना होगा, अगर जंगल या पार्क में हैं तो ग्रास या बग टाइप के  Pokemon तलाश करना होगा।
प्लेयर  Pokemon नाम के वर्चुअल क्रिएचर्स को पकड़ सकते हैं, ट्रेन कर सकते हैं और लड़ सकते हैं। वैसे तो ये फ्री गेम है। लेकिन कुछ एडिशनल आइटम के लिए इन-ऐप परचेजिंग की जा सकती है।  Pokemon को पकड़ने के लिए प्लेयर को उनपर लाल और सफेद रंग के पोके बॉल्स को छोड़ना होता है।

इस गेम को 5 जुलाई को लॉन्च किया गया था। इसकी पॉपुलैरिटी का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि पिछले 4 साल में जितने लोगों ने टिंडर डाउनलोड किया, उतने लोगों ने केवल एक हफ्ते में  Pokemon Go को डाउनलोड कर लिया। आज हालात ये है कि इंस्टाग्राम और वाट्सऐप से ज्यादा वक्त लोग इस  Pokemon को पकड़ने में लगाते हैं।

Pokemon Go खेलने में सावधानी जरुरी है
इस गेम को खेलने में लोग इतने खो जाते हैं कि उन्हें ये एहसास ही नहीं रहता है कि उनके आसपास क्या है या उनके आसपास क्या हो रहा है? गेम खेलते खेलते कई बार लोगों के ट्रैफिक के बीच पहुंच जाने का खतरा होता है तो कई बार लोग तालाब के किनारे पहुंच जाते हैं। चुकी  Pokemon Go आपके रियल लोकेशन के हिसाब से काम करता है इसलिए कई बार लोग उसे ढूंढने में धूप में निकल जाते हैं। और उन्हें सनबर्न हो जता है।
Pokemon Go में सिक्योरिटी का खतरा

इस गेम को डेवेलप करनेवाले निऐंटिक की इस बात को लेकर आलोचना हुई कि जब इस गेम को यूजर खेलते हैं तो यह यूजर्स की कई जानकारी एक्सेस करता है। यह यूजर्स के ईमेल एड्रेस, आईपी एड्रेस, वेब पेज यूज्ड और लोकेशन को ट्रैक करता है। यानि जब आप इस गेम को खेल रहे होंगे तब आपकी पूरी जानकारी निऐंटिक के पास होगी। कंपनी ने इसे ठीक करने का भरोसा दिया है। लेकिन अगर उससे पहले हैकर निऐंटिक को हैक कर लें तो क्या होगा, ये सवाल परेशान करनेवाला है।
-Pokemon Go App

Loading...