पुराने नोट पर RBI का यू-टर्न, 5000 से ज्यादा जमा कराने पर पूछताछ नहीं होगी




नई दिल्ली: पुराने 500 और 1000 के नोट बैंक में जमा कराने पर RBI ने अपने पुराने फैसले पर यू-टर्न लिया है। नए सर्कुलर में RBI ने कहा है कि यदि KYC खाताधारक 5000 से ज्यादा के भी पुराने नोट बैंक में जमा कराते हैं तो उनसे पूछताछ नहीं होगी। RBI के नए सर्कुलर में ये भी कहा गया है कि अगर पुराने नोट बार-बार भी जमा कराए जाते हैं तब भी KYC खाताधारक से पूछताछ नहीं होगी। नोटबंदी के बाद अबतक 60 बार नियमों में बदलाव हो चुके हैं।

इससे पहले RBI ने कहा था कि अगर 5000 से ज्यादा के पुराने नोट बैंक में जमा कराए जाते हैं तो पहले जमाकर्ता से बैंक को दो अधिकारी पूछताछ करेंगे। उन्हें बताना होगा कि अबतक उन्होंने पैसे जमा क्यों नहीं कराए थे? RBI का ये सर्कुलर लोगों की परेशानी बढ़ाने वाला था। क्योंकि नोटबंदी लागू करने बाद सरकार ने कहा था कि जल्दबाजी नहीं करें 30 दिसंबर तक का वक्त है आराम से पैसे जमा कराएं। इससे उन्हें भीड़ का सामना नहीं करना पड़ेगा।

हलांकि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सोमवार को कहा था कि 5000 से ज्यादा के पुराने नोट अगर बैंक में एक बार में जमा कराए जाते हैं तो उनसे पूछताछ नहीं होगी। लेकिन वित्त मंत्री के इस बयान के बाद भी बैंकों में 5000 से ज्यादा जमा कराने पर पूछताछ होती रही। एक ग्राहक ने बैंक में ये लिखकर दिया था कि नोटबंदी के बाद सरकार ने ही कहा था आराम से पैसे जमा कराएं। क्योंकि 30 दिसंबर तक पैसे जमा कराने का वक्त दिया गया है। यही वजह थी कि उन्होंने बैंक में पैसे जमा नहीं कराए थे।

बैंक की दलील होती थी कि चुकी RBI की तरफ से 5000 से ज्यादा की रकम जमा कराने पर पूछताछ करने को कहा गया है। इसलिए वो पूछताछ कर रहे हैं।

Loading...