BIG BREAKING- BSF की कार्रवाई को HC में चुनौती देंगे तेज बहादुर, पहली बार आए सामने

नई दिल्ली:  BSF ने तेज बहादुर को BSF की छवि खराब करने का दोषी पाया जिसके बाद उन्हें सस्पेंड कर दिया गया। इस कार्रवाई के बाद तेज बहादुर पहली बार समने आए। उन्होंने कहा कि वो BSF की कार्रवाई को हाईकोर्ट में चुनौती देंगे। न्यूज एजेंसी एएनआई को दिया बयान में तेज बहादुर ने कहा उन्हें उम्मीद है कि उनके साथ इंसाफ होगा।

इसे भी पढ़ें

बाबरी केस में आडवाणी, जोशी, उमा समेत 10 पर चलेगा आपराधिक केस, SC का फैसला

इसे भी पढ़ें

खराब खाने की शिकायत करनेवाले तेज बहादुर BSF से बर्खास्त

तेज बहादुर ने कहा कि उन्हें न्याय व्यवस्था में पूरा विश्वास है। उन्होंने कहा कि उन्हें सच्चाई बोलने के बदले सजा दी गई है। उन्होंने कहा कि जो कुछ उन्होंने कहा था वो सबकुछ काफी दिनों से चल रहा था। तेज बहादुर ने कहा उनके कहने का मतलब ये नहीं था कि सेना के सभी अधिकारी करप्ट होते हैं। लेकिन सैनिकों को मिलने वाले खराब खाने के लिए सेना के 50 फीसदी अधिकारी जिम्मेदार हैं।

TEJ BAHADUR BSF

तेज बहादुर ने BSF के जवानों के दिया जाने वाले खराब खाने के बारे में एक वीडियो जारी किया था। जिसमें उन्होंने कहा था कि उनके लिए जो राशन भेजा जाता है उसे बाजार में बेच दिया जाता है। और उन्हें काफी खराब क्वालिटी का खाना दिया जाता है। तेज बहादुर ने बड़े अधिकारियों पर भ्रष्टाचार में शामिल होने का आरोप भी लगाया था।

तेज बहादुर की इस शिकायत के बाद उनके आरोपों की जांच की गई। जिसमें पाया गया कि जिस खराब खाने की शिकायत तेज बहादुर ने की थी वो सही नहीं था। तेज बहादुर को BSF की छवि खराब करने का दोषी पाया गया था। जिसके बाद उन्हें सस्पेंड कर दिया गया। इसपर उनकी पत्नी बोली थीं कि जिस तरह का बर्ताव किया गया उसके बाद कोई भी मां-बाप अपने बच्चों को सेना में भर्ती नहीं करना चाहेंगे।

Loading...

Leave a Reply