समय रहते गंजेपन के लक्षण को पहचानें, रोकने के लिए करें ये उपाय

नई दिल्ली:  आज के समय में गंजापन एक आम बीमारी है। अब वो वक्त नहीं रहा जब अधेड़ उम्र होने के बाद ही लोग गंजा होते थे। अब तो हालात ये है कि 18 से 20 तक के युवा भी गंजेपन के शिकार होने लगे हैं। गंजेपन का असर खूबसूरती पर तो पड़ता ही है इसके साथ साथ उम्र पर भी इसका असर दिखने लगता है। जहां लोग कम उम्र में ही ज्यादा उम्र के लगने लगते हैं।

लेकिन ऐसा नहीं है कि इसे रोका नहीं जा सकता है। लेकिन इसके लिए जरुरी है कि सही वक्त पर इसके लक्षणों को पहचान लिया जाए।

शरीर में खून की कमीं होने पर बालों को सही मात्रा में पोषण नहीं मिल पाता है जिसकी वजह से बाल झड़ने लगते हैं।

पुरुषों में सिर के आगे की तरफ हेयर लाइन के बाल अगर झड़ने लगें तो समझ जाइये आप गंजेपन की तरफ बढ़ रहे हैं। और आपमें इसकी शुरुआत हो रही है।

रोजाना 80-100 बाल गिरना आम बात है। लेकिन अगर इससे बाल गिर रहे हैं तो ये गंजेपन की निशानी हो सकती है। वैसे बालों का गिरना एक स्वाभाविक लक्षण है लेकिन उसी मात्रा में बाल दोबारा उग भी आते हैं। लेकिन जब बालों के झड़ने की रफ्तार बढ़ जाती है और उस मात्रा में बाल उगते नहीं हैं तो गंजापन दिखाई देने लगता है।

गंजेपन को रोकने के लिए कुछ घरेलू उपाय अपनाए जा सकते हैं

थोड़े मात्रा में कड़ी पत्ते का पेस्ट बनाकर उसे एक चम्मच दही में मिलाकर स्कल्प पर लगाएं। और उसे तीस मिनट तक रखने के बाद धो दें। इसे हफ्ते में तीन बार करें।

एक कप मेहंदी पाउडर में तीन चम्मच एलोवेरा जेल मिलाकर बालों  और स्कल्प पर लगाएं। इसे एक घंटे के बाद धो लें। इसे हफ्ते में एक बार किया जा सकता है।

तीन चार आंवला काटकर उसकी गुठली निकाल लें। इसे एक कटोरी नारियल तेल में डालकर उबाल लें। ठंडा होने पर इससे रोजाना नहाने से पहले सिर और स्कल्प पर मसाज करें।

मेथी के दानों को पानी में भिंगोने के बाद इसे पीसकर पेस्ट बना लें और इसे बालों में लगाएं। इससे भी हालात सुधर सकते हैं।

कच्चे अंडे की सफेदी बाल झड़ने से रोकने में लाभदायक हो सकती है। एक अंडे की केवल सफेदी को 2 चम्मत प्याज के रस में मिला लें। इसके बाद पूरे स्कल्प पर इससे मसाज करें। जब ये सूख जाए तो इसे धो लें। इस तरीके को हफ्ते में दो बार आजमाएं।

नोट: ये रिपोर्ट अगल अलग पत्रिकाओं में दी गई रिसर्च के आधार पर तैयार की गई है। NTI इसकी प्रामाणिकता की पुष्टि नहीं करता है।

Loading...

Leave a Reply