2011 में भी हुआ था सर्जिकल स्ट्राइक: 3 पाकिस्तानी सैनिक के सिर काट लाए थे भारतीय जवान

दिल्ली: जब केंद्र में UPA 2 की सरकार थी उस वक्त भी सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया था। उस वक्त भारतीय फौज ने सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान 13 पाकिस्तानी सैनिकों को मार गिराया था। और तीन पाकिस्तानी सैनिकों के सिर काट लाए थे। उस सर्जिकल स्ट्राइक से जुड़ा दस्तावेज भी सामने आया है। जिसमें सर्जिकल का दावा किया गया है।

ऑपरेशन जिंजर के नाम से अंजाम दिये गए उस सर्जिकल स्ट्राइक की शुरुआत 30 अगस्त 2011 को हुई थी। उसे अंजाम देने से पहले 7 बार रेकी की गई थी। जिसके बाद ये टार्गेट तय किया गया। दो महीने की रेकी के बाद 30 अगस्त 2011 को सेना ने ऑपरेशन जिंजर शुरु किया। दरअसल ऑपरेशन जिंजर में भारतीय फौज ने बदला लेने के लिए किया था।

surgical-strike-in-2011-document
30 जुलाई 2011 की दोपहर को पाकिस्तानी सैनिकों ने राजपूत और कुमाऊं रेजीमेंट के सैनिकों पर हमला किया गया था। पाकिस्तानी बॉर्डर एक्शन टीम ने हमला उस वक्त किया था जब 19 राजपूत रेजीमेंट को 20 कुमाऊं रेजीमेंट से बदला जाना था। उस हमले के बाद हवलदार जयपाल सिंह अधिकारी और लांस नायक देवेंद्र सिंह का सिर पाकिस्तानी सैनिक अपने साथ ले गए थे। बदले में भारतीय सैनिकों ने तीन पाकिस्तानी सैनिकों के सिर लाए थे।

Loading...

Leave a Reply