justic-lodha-and-supreme-court-of-india

SC में बैकफुट पर BCCI, अनुराग क्रिकेटर हैं तो मैं कप्तान हूं-सुप्रीम कोर्ट

SC में बैकफुट पर BCCI, अनुराग क्रिकेटर हैं तो मैं कप्तान हूं-सुप्रीम कोर्ट

दिल्ली: लोढ़ा कमेटी और BCCI के बीच चल रहे विवाद पर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट फैसला सुनाएगा। उससे पहले सुप्रीम कोर्ट में लोढ़ा कमेटी की याचिका पर सुनवाई हुई। सुप्रीम कोर्ट ने BCCI से पूछा कि कमिटी की सिफारिशों को लागू करने को लेकर लिखित हलफनामा देंगे या कोर्ट आदेश जारी करे। इसपर BCCI ने किसी भी तरह का लिखित हलफनामा देने से इनकार कर दिया। जिसके बाद अब शुक्रवार को फैसला सुनाया जाएगा।

लोढ़ा कमेटी ने BCCI को उद्दंड बताते हुए सिफारिश लागू नहीं करने का आरोप लगाया। इसपर BCCI का कहना था कि लोढ़ा कमेटी की ज्यादातर सिफारिशें वोटिंग प्रक्रिया के तहत खारिज की गई हैं। इसपर मामले की सुनवाई कर रहे जज का कहना था कि क्या उन्हें लगता है कि BCCI अधिकारी कोर्ट से उन्हें निलंबित करने की मांग कर रहे हैं।

लोढ़ा कमेटी ने BCCI पर तथ्यों को तोड़ मरोड़कर पेश करने का भी आरोप लगाया। कमेटी की तरफ से कोर्ट में कहा गया कि BCCI को कई बार मेल भी किया गया। लेकिन बीसीसीआई ने मेल का भी जवाब नहीं दिया। इसपर बीसीसीआई का कहना था कि हमने लोढ़ा कमेटी के मेल का जवाब दिया। इस दौरान बीसीसीआई की तरफ से 40 मेल की डिटेल सौंपी गई।

कोर्ट ने अनुराग ठाकुर की योग्यता पर भी सवाल उठाए। कोर्ट ने BCCI से पूछा कि बोर्ड के कितने प्रशासक क्रिकेटर हैं। जब बोर्ड के वकील ने अनुराग ठाकुर के क्रिकेटर होने की बात कही तो जीफ जस्टिस ने कहा यहां सभी क्रिकेटर हैं,यहां तक कि मैं भी। मैं सुप्रीम कोर्ट की जजों की टीम का कप्तान हूं।

कोर्ट ने पूछा क्या बीसीसीआई प्रशासकों में कुछ खास कौशल है? अनुराग ठाकुर ने बोर्ड का अध्यक्ष बनने से पहले केवल एक रणजी मैच खेला है। इस दौरान बिहार बोर्ड के वकील ने कोर्ट में बताया कि अनुराग ठाकुर ने हिमाचल क्रिकेट एसोसिएशन की ओर से खुद को चुना था। जिससे वो नॉर्थ जोन जूनियर सेलेक्शन कमेटी के सदस्य बन सकें। इसपर जज भी हैरान रह गए।

Loading...

Leave a Reply