subrat sahara

सुप्रीम कोर्ट ने सहारा के ऐंबी वैली को नीलाम करने का दिया आदेश

सुप्रीम कोर्ट ने सहारा के ऐंबी वैली को नीलाम करने का दिया आदेश

नई दिल्ली:  सुप्रीम कोर्ट से सहारा को जोरदार झटका लगा है। सुप्रीम कोर्ट ने सहारा के ऐंबी वैली को नीलाम करने का आदेश दिया है। निवेशकों का पैसा लौटाने में साहारा के नाकाम रहने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने ये फैसला दिया है। कोर्ट ने अगली सुनवाई पर सहारा ग्रुप के चेयरमैन सुब्रत राय सहारा को व्यक्तिगत रुप से कोर्ट में मौजूद रहने का आदेश दिया है। इस मामले पर अगली सुनवाई 28 अप्रैल को होगी।

सुप्रीम कोर्ट ने फरवरी में मुंबई के ऐंबी वैली टाउनशिप प्रॉजेक्ट को जब्त करने का आदेश दिया था। कोर्ट ने सहारा ग्रुप की सभी संपत्ति की लिस्ट मांगी थी। जिनपर किसी तरह का कर्ज नहीं लिया गया हो। सुप्रीम कोर्ट ने उस वक्त ही कहा था कि इन संपत्तियों की नीलामी कर पैसों की वसूली की जाएगी और उससे निवेशकों के पैसे वापस किये जाएंगे। ऐंबी वैली की कीमत 34,000 करोड़ आंकी गई है।

सुप्रीम कोर्ट ने पिछली सुनवाई में कहा था अगर 17 अप्रैल तक सेबी-सहारा रिफंड खाते में 5,092.6 करोड़ रुपया जमा नहीं कराता है तो उसकी पुणे की  ऐंबी वैली की नीलामी की जाएगी।

 

दरअसल सहारा समूह के चेयरमैन सुब्रत राय और दो अन्य निदेशकों रविशंकर दूबे और अशोक राय चौधरी को ग्रुप की दो कंपनियों सहारा इंडिया रीयल एस्टेट कॉरप्रोरेशन और सहारा हाउसिंग इन्वेस्टमेंट कॉर्प लिमिटेड द्वारा 31 अगस्त 2012 तक निवेशकों का 24 हजार करोड़ का रिफंड करने के आदेश का अनुपालन नहीं करने के लिए गिरफ्तार किया गया था।

सुप्रीम कोर्ट ने 6 मई 2016 को मां की अंत्येष्टि में शामिल होने के लिए चार हफ्ते का पैरोल दिया। उसके बाद उनके पैरोल को बढ़या जाता रहा। कोर्ट ने 28 नवंबर 2016 को कोर्ट ने सुब्रत को 6 फरवरी तक रिफंड खाते में 600 करोड़  रुपये जमा करने का निर्देश देते हुए कहा था अगर इसके बाद भी सुब्रत राय पैसे चुकाने में विफल रहते हैं तो उन्हें जेल भेज दिया जाए।

Loading...

Leave a Reply