बलूचिस्तान में पाकिस्तान ने बर्बरता बंद नहीं की तो EU लगाएगा प्रतिबंध !

दिल्ली: बलूचिस्तान में पाकिस्तान के अत्याचार पर जो आवाज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली के लालकिले से उठाई थी वो अब रंग ला रही है। यूरोपीय यूनियन ने पाकिस्तान को सख्त चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर बलूचिस्तान में मानवाधिकारों का उल्लंघन नहीं रुका तो उसपर प्रतिबंध लगाया जा सकता है।

यीरोपीय संसद के वाइस प्रेजिडेंट सिरजार्ड जारनेकी ने कहा ‘मानवाधिकार पर चर्चा के दौरान मैंने यूरोपीय यूनियन को बताया कि हमारे सहयोगी देश मानवाधिकारों की कद्र नहीं करते हैं। तो ऐसे में हमें प्रतिक्रिया स्वरुप आर्थिक प्रतिबंध के बारे में सोचना पड़ेगा।‘ पाकिस्तान के खिलाफ शांतिपूर्ण प्रदर्शन में शामिल हुए जारनेकी ने बलूचिस्तान में मौत को गले लगा चुके लोगों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा ‘यह वक्त बोलने का नहीं कुछ करने का है। पाकिस्तान के साथ हमारे द्वीपक्षीय आर्थिक और राजनीतिक संबंध हैं। अगर पाकिसतान बलूचिस्तान को लेकर अपनी नीति नहीं बदलता है हमें पाकिस्तान को लेकर अपना रवैया बदलना पड़ेगा।‘

पाकिस्तान को देहरे रवैये पर जारनेकी का कहना था ‘एक तरफ पाकिस्तान विश्व बिरादरी में खुद को पाकसाफ बताता है और दूसरी तरफ मानवाधिकार का उल्लंघन करता है। पाकिस्तन के दो चेहरे हैं। एक चेहरा हमें दिखाने के लिए और दूसरा क्रूर चेहरा बलूचिस्तान में दमन के लिए।यूरोपीय यूनियन के सभी 28 सदस्य देशों को पाकिस्तान की क्रूरता के खिलाफ बोलना चाहिए।‘

उन्होंने आगे कहा ‘पाकिस्तान के साथ समस्या ये है कि पाकिस्तान सरकार व्यावहारिक तौर पर हालात को नहीं संभालती और अब इस हालात को स्वीकार करने और उस पर प्रतिक्रिया देने का वक्त आ गया है।‘

Loading...

Leave a Reply