श्रीलंका में 10 दिन के लिए आपातकाल, टीम इंडिया की सुरक्षा बढ़ाई गई

नई दिल्ली:  बेहद ही शांत समझे जाने वाले श्रीलंका में भी अशांति फैल चुकी है। कई शहरों से हिंसा की खबर आने के बाद अब वहां इमरजेंसी लगा दी गई है। बौद्ध और मुस्लिम समुदाय के बीच फैली हिंसा के बाद देश में इमरजेंसी लगाई गई है। फिलहाल इस इमरजेंसी की मियाद 10 दिनों की है। लेकिन अगर हालात नहीं सुधरे तो इसे और आगे बढ़ाया जा सकता है।

श्रीलंका में ये आपातकाल उस वक्त लगाया गया है जब रोहित शर्मा की अगुवाई में टीम इंडिया टी-20 सीरीज के लिए श्रीलंका में मौजूद है। आज शाम को ही भारत-श्रीलंका का पहला टी-20 मुकाबला भी है। भारतीय टीम इस वक्त कोलंबो में मौजूद है और हिंसा कैंडी में भड़की है। इसे देखते हुए भारतीय टीम के खिलाड़ियों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

श्रीलंका में हालात उस वक्त विस्फोटक हो गए जब कैंडी शहर में सोमवार को बौद्ध समुदाय के व्यक्ति की हत्या कर दी गई। इसके जवाब में एक मुस्लिम व्यापारी को आग लगा दी गई। जिसके बाद वहां सांप्रदायिक हिंसा भड़क उठी। इसके बाद वहां कर्फ्यू लगा दिया गया था। लेकिन हालात और ना बिगड़े और दूसरे शहर तक ना पहुंचे इसलिए वहां आपातकाल लगाने का फैसला किया गया।

पुलिस के मुताबिक कैंडी में तकरीबन हफ्ते के आखिर से हिंसा जारी थी। इसके बाद देश के दूसरे शहरोँ में भी ये हिंसा फैलने लगी। श्रीलंका में 75 फीसदी आबादी बैद्ध सिंघली समुदाय की है जबकि 10 फीसदी आबादी मुसलमानों की है।

देश में फैले इस सांप्रदायिक हिंसा और आपातकाल पर श्रीलंका के राष्ट्रपति सिरिसेना और प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे की तरफ से अभी कुछ नहीं कहा गया है। स्थानीय प्रशासन के मुताबिक हिंसा और आगजनी के मामले में तकरीबन दो दर्जन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इस पूरे घटनाक्रम की जांच की जा रही है।

Loading...