वायुसेना का ग्रुप कैप्टन हनीट्रैप में गिरफ्तार, ISI को भेजा गोपनीय दस्तावेज

नई दिल्ली:  दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल ने वायुसेना के ग्रुप कैप्टन अरुण मारवाह को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया है। मारवाह पर वायुसेना से जुड़ी खुफिया जानकारी पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई को भेजने का आरोप है। बताया जा रह है कि पूछताछ में मारवाह ने ये बात मान भी ली है कि उसने खुफिया जानकारी आईएसआई को भेजी। फिलहाल मारवाह को पांच दिन की पुलिस रिमांड में भेजा गया है।

बताया जा रहा है कि मारवाह ने व्हाट्सएप के जरिये गोपनीय जानकारी आईएसआई को भेजी। फेसबुक पर मारवाह किरण रंधावा नाम की लड़की के साथ संपर्क में था। जिसके साथ वो फेसबुक मैसेंजर पर चैट किया करता था। किरण ने ही मारवाह की पहचान महिमा से करवाई। दरअसल ये दोनों ही लड़कियां पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई की महिला एजेंट थी। इन्हीं के हनीट्रैप में मारवाह फंस गया।

बताया जाता है कि मारवाह अपना फोन लेकर वायुसेना हेडक्वार्टर जाते थे। जो कि नियम के विरूद्ध था। एयरफोर्स के अधिकारियो को विशेष प्रकार का फोन दिया जाता है। माना जा रहा है कि जिस अनधिकृत फोन को लेकर मारवाह हेड क्वार्टर में जाते थे उसे के जरिये वो जानकारी जुटाते थे। और पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी तक पहुंचाते थे।

आईएसआई एजेंट ने लड़की बनकर मारवाह से संपर्क किया। उसे अपनी बातों में फंसाकर उससे गोपनीय जानकारी निकलवाई। दोनों एक दूसरे को अश्लील मैसेज भेजते थे। धीरे धीरे पाकिस्तानी एजेंट और वायुसेना के ग्रुप कैप्टन मारवाह के बीच दोस्ती बढ़ती गई। उनके बीच कई अंदरूनी बातें भी होती थी। इन्हीं बातों में उलझाकर पाकिस्तानी एजेंट ने मारवाह से जानकारी हासिल की।

Loading...