क्या बात है राहुल जी… कांग्रेस का हाथ केम्ब्रिज एनालिटिका के साथ- स्मृति ईरानी

नई दिल्ली:  डेटा लीक मामले में रोज नए सबूत सामने आ रहे हैं और कांग्रेस पर नए आरोप लग रहे हैं। अब एक तस्वीर सामने आई है। जिसमें लंदन में केम्ब्रिज एनलिटिका के सीईओ के दफ्तर में कांग्रेस के निशान वाली तस्वीर दिखाई दे रही है। ये तस्वीर लंदन में कंपनी के मुख्यालय में सीईओ के दफ्तर में लगा है। इस तस्वीर के सामने आने के बाद केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर चुटकी ली है।

स्मृति ईरानी ने ट्वीट किया है क्या बात है राहुल जी… कांग्रेस का हाथ केम्ब्रिज एनालिटिका के साथ।

बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री सीक्रेट ऑफ सिलिकन वैली में इस बात का खुलासा हुआ है। न्यूज चैनल एबीपी की तरफ से दावा किया गया है कि जब उसने उस डॉक्यूमेंट्री को देखा तो इस पोस्टर को सीईओ के केबिन में पाया। डेटा लीक मामले में सीईओ निक्स को निलंबित किया जा चुका है।

डेटी लीक के मामले में कंपनी अधिकारी रोजाना नए खुलासे कर रहे हैं। केम्ब्रिज एनेलिटिका की मुख्य कंपनी SCL अधिकारी रह चुके क्रिस्टोफर वायली ने बड़ा खुलासा करते हुए कहा है चोरी किये हुए डेटा के इस्तेमाल से भारत के कई राज्यों के जातिगत रिसर्च डेटा तैयार किया गया। 2003 में कंपनी ने भारत के कई राज्यों में चुनाव पर काम किया।

तस्वीर सौजन्य- स्मृति ईरानी ट्वीटर हैंडल

वायली ने ट्वीट किया मुझे भारतीय पत्रकारों के कई मैसेज मिले। मैं भारत के साथ SCL कंपनी के कुछ पुराने प्रोजेक्ट के दस्तावेज शेयर कर रहा हूं। सबसे ज्यादा मुझसे पूछा गया कि क्या SCL/ केम्ब्रिज एनालिटिका भारत में काम करती है। मैं उन्हें बताना चाहता हूं कि इस कंपनी का ऑफिस भारत में है। इस दस्तावेज के जरिये समझिये कि वर्तमान उपनिवेशवाद कैसा दिखता है।

केम्ब्रिज एनालिटिका डेटा लीक मामले में व्हीसिल ब्लोअर वायली ने ब्रिटिश संसद के सामने दिये अपने बयान में बताया कि भारत की राजनीतिक पार्टी कांग्रेस केम्ब्रिज एनालिटिका कंपनी की क्लाइंट थी। जिसके बाद बीजेपी राहुल गांधी और कांग्रेस पर हमलावर है।

वाइली ने कहा भारत में कंपनी का दफ्तर भी था। मेरा मानना है कि कांग्रेस कंपनी की क्लाइंट थी। मुझे इसका को नेशनल प्रोजेक्ट याद नहीं। लेकिन रीजनल प्रोजेक्ट था। मेरे पास भारत पर कंपनी के कुछ दस्तावेज हैं। अगर जरूरत होगी तो मैं उसे मुहैया करा सकता हूं।

क्या है विवाद?

केंब्रिज एनालिटिका एक पॉलिटिकल कंसल्टेंसी फर्म है। जिसने करीब 5 करोड़ फेसबुक यूजर्स का डेटा एक थर्ड पार्टी एप के जरिये एक्सेस किया। चैनल 4 के स्टिंग ऑपरेशन में खुलासा हुआ कि इस डेटा का इस्तेमाल अमेरिका में 2016 में हुए राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनल्ड ट्रंप को फायदा पहुंचाने ब्रिक्जिट में जनमत संग्रह बदलने में किया गया।

Loading...