सिरसा में राम रहीम के डेरे से बेची गई थी 14 लाशें!

सिरसा/हरियाणा:  सिरसा में राम रहीम के डेरे की तलाशी का आज दूसरा दिन है। पहले दिन देर शाम तक तलाशी चलती रही। उसमें कई अहम कागजात भी मिले हैं। जिसके आधार पर कई बड़े खुलासे भी हो रहे हैं। उन्हीं कागजातों में लखनऊ मेडिकल कॉलेज से जुड़ा एक कागज भी है। जिसमें ये जानकारी दी गई है कि डेरा सच्चा सौदा के सिरसा मुख्यालय से 14 शव मेडिकल कॉलेज भेजे गए हैं।

अब सवाल ये उठ रहे हैं कि आखिर वो 14 शव किसके थे और वो डेरा के पास कैसे आए। दूसरा सवाल ये है कि बिना डेथ सर्टिफिकेट के उन शवों को लखनऊ मेडिकल कॉलेज कैसे भेज दिया गया। तीसरा सवाल ये है कि क्या उन शवों को मेडिकल कॉलेज को देने से पहले उनके परिजनों की अनुमति ली गई थी। चौथा सवाल ये भी उठता है कि क्या पूर्व सेवादार की तरफ से डेरा में लोगों की हत्या कराने की जो बात कही जा रही है ये उसी की सच्चाई बयां कर रहा है। क्योंकि डेरा की तरफ से जो शव लखनऊ भेजे गए हैं उसके बारे में ना तो स्थानीय प्रशासन को जानकारी है और ना ही सरकार को।

हलांकि हरियाणा सरकार के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज इस मामले पर डेरे के प्रति अपना पुराना फर्ज आज भी निभा रहे हैं। उनका कहना है कि ये मेडिकल कॉलेज की जिम्मेदारी है कि उसने बिना जांच के उन शवों को कैसे ले लिया। अनिल विज ने जो बयान दिया है उसमें हैरानी नहीं हो रही है। क्योंकि उन्होंने एक दिन पहले ही साफ कर दिया था कि वो डेरा सच्चा सौदा में मत्था टेकते रहेंगे। चुनाव प्रचार में जब जन संपर्क अभियान चलेगा और अगर रास्ते में डेरा आएगा तो वहां भी सजदा करेंगे।

ये बात तो पहले ही साफ हो गई थी कि हरियाणा सरकार डेरा और राम रहीम के एहसानों की कर्जदार है। अब ये भी साफ हो गया कि उस कर्ज के बोझ से हरियाणा सरकार इतनी दबी हुई है कि वो आज भी डेरा की शक्ति और चमत्कार को नमस्कार करने के लिए बाध्य है।

Loading...

Leave a Reply