अयोध्या में विवादित जगह पर ही बने राम मंदिर, मस्जिद कहीं और बने- शिया वक्फ बोर्ड

नई दिल्ली:  अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर सुप्रीम कोर्ट में शिया वक्फ बोर्ड की तरफ से एक हलफनामा दायर किया गया है। जिसमें कहा गया है कि अयोध्या में विवादित जगह पर ही राम मंदिर का निर्माण किया जाए। और मस्जिद का निर्माण दूसरी जगह पर मंदिर से दूर करवाई जाए। शिया वक्फ बोर्ड की तरफ से कहा गया है कि अगर मदिर वाली जगह पर मस्जिद का निर्माण होगा तो इससे माहौल खराब होगा। इसलिए मस्जिद का निर्माण मंदिर से दूर किया जाए।

शिया वक्फ बोर्ड की तरफ से दायर हलफनामा में कहा गया है कि 2010 में इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले के मुताबिक जमीन के एक तिहाई हिस्से पर शिया वक्फ बोर्ड का हक है ना कि सुन्नी वक्फ बोर्ड का। शिया वक्फ बोर्ड के मुताबिक ये मस्जिद मीर बांकी ने बनाई थी। जो एक शिया थे। शिया वक्फ बोर्ड के मुताबिक वो विवादित जगह पर अपना दावा छोड़ सकते हैं अगर सरकार उन्हें दूसरी जगह ऐसी ही मस्जिद बनाने की जगह दे दे। विवादित जमीन से थोड़ी दूर मुस्लिम बहुल इलाके में मस्जिद बनाई जा सकती है। हलफनामा में कहा गया है कि विवादित जमीन पर मंदिर-मस्जिद दोनों बनाए जाने से रो झड़गे होंगे।

हलफनामे में सुन्नी वक्फ बोर्ड को कटघरे में खड़ा किया गया है। उसमें कहा गया है कि सुन्नी वक्फ बोर्ड मामले का शांति पूर्ण समाधान नहीं चाहता है। इस मसले को सभी पक्ष आपस में बैठकर सुलझा सकते हैं। हलांकि शिया वक्फ बोर्ड  के इस हलफनामा से सुन्नी वक्फ बोर्ड इत्तेफाक नहीं रखता है। उसका कहना है कि शिया वक्फ बोर्ड तो इस मामले में पार्टी ही नहीं है। सुन्नी वक्फ बोर्ड की तरफ से कहा गया है कि ये केवल कुछ लोगों को खुश करने के लिए कुछ लोगों की तरफ से की जा रही कोशिश है। ये पूरे कौम का प्रतिनिधित्व नहीं करता है।

Loading...