Sheila Dixit बनीं यूपी में कांग्रेस की CM उम्मीदवार

कांग्रेस ने यूपी के लिए अपनी टीम का एलान कर दिया है। जिसमें बड़ी बात ये है कि तीन बार दिल्ली की सीएम रहीं Sheila Dixit को यूपी में कांग्रेस ने सीएम उम्मीदवार बनाया है। कुछ दिनों पहले ही राज बब्बर को यूपी में कांग्रेस का प्रदेश अध्यक्ष बनाया है। वहीं प्रचार समित की कमान संजय सिंह संभालेंगे। कॉर्डिनेशन कमेटी का अध्यक्ष प्रोमोद तिवारी को बनाया गया है।

Sheila Dixit पर पार्टी ने जो भरोसा जताया है उसपर खरा उतरना अपने आप में बड़ी चुनौती है। भले ही यूपी की सीमा वहां से शुरु होती है जहां दिल्ली की सीमा खत्म हो जाती है। लेकिन दोंनों राज्यों की जनता की राजनीतिक सोच बिल्कुल जुदा है। यहां एक बात और है कि Sheila Dixit तीन बार दिल्ली की सीएम रहीं। लेकिन उनका मुकाबला एक ही पार्टी बीजेपी से रहा। हां तीसरी बार की पारी जब खत्म हुई और चौथी पारी से Sheila Dixit चुनाव लड़ रही थी तब एक नई पार्टी आम आदमी पार्टी से भी उनका मुकाबला हुआ। नतीजा सभी के सामने है। दिल्ली में Sheila Dixit की चौथी पारी शुरु नहीं हो सकी। लेकिन यूपी में पहली बार में ही Sheila Dixit का मुकाबला बीजेपी के साथ साथ समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी से भी होने जा रहा है।

अब सवाल उठता है कि आखिर कांग्रेस ने Sheila Dixit पर इतना बड़ा दांव क्यों खेला। तो कांग्रेस के पास मौजूदा वक्त में ऐसा कोई चेहरा है नहीं जिसके पास बताने के लिए काफी कुछ हो और वो यूपी के करीब भी रहता हो। ऐसे में Sheila Dixit से ज्यादा गुणवत्ता वाला नाम और कोई दिखाई नहीं दे रहा था। Sheila Dixit 15 सालों तक दिल्ली की सीएम रहीं। इन 15 सालों में उनके पास बताने के लिए काफी कुछ है विकास के नाम पर । जहां तक संकेत मिल रहे हैं यूपी में चुनाव विकास के एजेंडे पर ही लड़ा जाएगा। ये एक बड़ी वजह है यूपी में कांग्रेस की तरफ से Sheila Dixit को सीएम कैंडिडेट बनने का ।

यहां ये बता देना जरुरी है कि Sheila Dixit पर भ्रष्टाचार के आरोप भी लगे हैं। कॉमनवेल्थ घोटला, पानी के टैंकर और मीटर घोटाला। इन इन मामलों की जांच चल रही है। Sheila Dixit के नाम का एलान करने आए कांग्रेस प्रभारी गुलाम नबी आजाद से जब Sheila Dixit के घोटालों पर सवाल किया गया तो उनका कहना था कि आप लोगों को केवल कांग्रेस के मामले में ही भ्रष्टाचार दिखाई देता है। साथ ही उन्होंने बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों का हवाला भी दिया। आजाद के इस जवाब से साफ है कि पार्टी ये मानकर चल रही है कि Sheila Dixit के घोटालों पर उठने वाले सवालों का वो बखुबी जवाब दे देगी।

Loading...

Leave a Reply