पूर्व कांग्रेसी शंकर सिंह वाघेला ने राज्य सभा चुनाव में अहमद पटेल को वोट नहीं दिया

नई दिल्ली: गुजरात में राज्य सभा चुनाव दिलचस्प हो गया है। एक तरफ कांग्रेस के उम्मीदवार अहमद पटेल की साख दांव पर लगी है तो दूसरी तरफ बीजेपी है जिसके तीनों उम्मीदवारों की जीत पक्की बताई जा रही है। पूर्व कांग्रेसी शंकर सिंह वाघेला के बारे में कहा जा रहा था कि वो अपना वोट अहमद पटेल को देंगे। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। क्योंकि राज्यसभा चुनाव में वोट डालने के बाद शंकर सिंह वाघेला ने खुद ये कहा कि उन्होंने अपना वोट अहमद पटेल को नहीं दिया है।

वाघेला ने कहा राज्य सभा चुनाव में कांग्रेस के उम्मीदवार की जीत की कोई उम्मीद नहीं है। और हारने वाली पार्टी के पक्ष में वोटिंग करने का मतलब है अपना वोट बेकार करना। इसलिए मैंने अपना वोट अहमद पटेल को नहीं दिया। उन्होंने मैंने अपना वोट बीजेपी उम्मीदवार को दिय है। हलांकि साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि हमें इसका अफसोस भी है। वाघेला ने कहा मैंने पार्टी को बहुत समझाया। लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ।

वहीं दूसरी तरफ अहमद पटेल ने राज्य सभा चुनाव में अपनी जीत का भरोसा जताया है। अहमद पटेल ने कहा कि अभी वोटिंग चल रही है नतीजे आने दीजिये। राज्यसभा पहुंचने के लिए मेरे पास पर्याप्त नंबर है।
कांग्रेस विधायक राघवजी पटेल ने भी बीजेपी को वोट दिया है। इस तरह के कई और कांग्रेसी विधायक होंगे जो बीजेपी को वोट देंगे। शंकर सिंह वाघेला ने भी कहा था कि कांग्रेस के पास 44 विधायक हैं। जिनमे से 3-4 विधायक कांग्रेस के खिलाफ वोट करेंगे। उन्होंने कहा कांग्रेस को 40 विधायक भी वोट नहीं करेंगे।
राघवजी से पहले कांग्रेसी विधायक धर्मेंद्र जडेजा ने भी कहा है हम पार्टी के सामने साल भर से अपनी बात रख रहे थे। लेकिन पार्टी हमारी बात नहीं सुन रही थी। उन्होंने कहा हमने बलवंत सिंह राजपूत को वोट दिया है। बलवंत सिंह राजपूत पिछले दिनों कांग्रेस को छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए थे। जिसके बाद बीजेपी ने उन्हों राज्य सभा उम्मीदवार बनाया था।

Loading...