वरिष्ठ पत्रकार कुलदीप नैयर का निधन, लंबे वक्त से बीमार थे

नई दिल्ली:वरिष्ठ पत्रकार, लेखक और स्तंभकार कुलदीप नैयर  का 93 वर्ष की उम्र में निधन हो गया।पत्रकारिता जगत में कई सालों तक सक्रिय रहने के अलावा राज्यसभा सांसद रह चुके थे।नैयर अपने लेखन के अलावा विश्वशांति हेतु अपनी सक्रियता के लिए भी जाने जाते हैं।

आइये जाने उनकी कुछ विशेष बातें..
कुलदीप नैयर भारत सरकार के प्रेस सूचना अधिकारी के पद पर कई साल किया तो कई सालसमाचार एजेंसी यूएनआई, पीआईबी, ‘द स्टैट्समैन ‘इंडियन एक्सप्रेस’ जुड़े रहे ।जिसके अलावा उन्होंने 25 साल लंदन द टाइम्स के संवादाता भी रहे।

उन्हें खासकर 1975-77 में आपतकाल को भी लेकर जाना जाता है जिसमें उन्होंने विरोध प्रदर्शन कर रहे समूह का नेतृत्व किया था ।जिसके बाद मीसा के तहत जेल भी गये थे।

पत्रकारिता के साथ साथ वो 1996 में संयुक्त राष्ट्र के लिए भारत के प्रतिनिधिमंडल सदस्य थे।उन्हें 1990 में ग्रेट ब्रिटेन में उच्चायुक्त नियुक्त किया गया था।और अगस्त 1997 में राज्यसभा में नामांकित किया गया।

वो इन सब के साथ साथ एक अच्छे लेखक भी थे।और कई सुन्दर किताबे भी लिखी,जिसमे बिटवीन द लाइन्स, डिस्टेंट नेवर: ए टेल ऑफ द सब कॉन्टीनेंट, वॉल एट वाघा, इंडिया पाकिस्तान रिलेशनशिप आदि शामिल है।और वो 80 से अधिक समाचार पत्रों के लिए 14 भाषाओं में कॉलम और ओप-एड लिखते थे।

Loading...