केंद्रीय मंत्री उमा भारती को आतंकवादी से नहीं सेल्फी से डर लगता है साहेब!

दिल्ली: केंद्रीय मंत्री उमा भारती अपने राजनीतिक विरोधियों को टका सा जवाब देने के लिए जानी जाती हैं। लेकिन उसी उमा भारती को सेल्फी से डर लगता है। सेल्फी से दूर रहने के लिए उमा भारती ने अपने सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मियों को खास निर्देश भी दे रखे हैं। उमा की सख्त हिदायत है कि किसी को सेल्फी लेने के लिए उनके करीब न आने दिया जाए।

उमा भारती एक सभा में बोल रही थीं। जिसमें उन्होंने कहा कि अगर उनके सामने कोई आतंकवादी आकर खड़ा हो जाए तो उन्हें उससे डर नहीं लगेगा। वो उसका सामना कर सकती हैं।लेकिन जब वो किसी कैमरेवाले को देखती हैं और अगर कैमरा मोबाइल फोन वाला हो तो उन्हें डर लग जाता है। क्योंकि लोग मोबाइल वाले कैमरे से सेल्फी लेने लगते हैं।

उमा भारती ने उनलोगों के खिलाफ कड़ा बयान दिया है जो लोग नेताओं पर चप्पल और स्याही फेंकते हैं। उमा भारती ने कहा कि इसके लिए उन्होंने अपने सुरक्षाकर्मियों से कह रखा है कि जो कोई भी उनपर जूता या स्याही फेंकने की कोशिश करे उसकी बुरी हालत कर दी जाए। बाद में जो होगा देखा जाएगा।

उमा का ये बयान तब आया है जब हाल के दिनों में नेताओं पर स्याही और जूते फेंकने का चलन चल पड़ा है। इस तरह के ज्यादातर मामलों में देखा गया है कि ऐसी हरकत करनेवाला किसी न किसी संगठन से जुड़ा होता है। इससे ये संदेश भी जाता है कि ऐसी हरकत कर अपना विरोध जताने से ज्यादा सुर्खियां बटोरने की कोशिश होती है।

उमा भारती ने ये साफ संदेश दे दिया कि अगर कोई उनके साथ ऐसा करने की कोशिश करेगा तो उसकी बुरी हालत कर दी जाएगी। इसके लिए उन्होंने अपनी सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मियों को भी खास निर्देश और खुली छूट दे रखी है।

Loading...