TENTION IN KASHMIR

जम्मू कश्मीर में स्कूल-कॉलेज बंद, अलगाववादियों ने किया है प्रदर्शन का एलान

जम्मू कश्मीर में स्कूल-कॉलेज बंद, अलगाववादियों ने किया है प्रदर्शन का एलान

नई दिल्ली: जम्मू- कश्मीर की सभी स्कूल और कॉलेज को मंगलवार को बंद कर दिया गया है। घाटी मे हो रहे उग्र प्रदर्शन की वजह से ये फैसला लिया गया है। हालात को सामान्य बनाने के लिए मोबाइल और इंटरनेट पर भी रोक लगा दी गई है। अलगाववादियों ने सोमवार की तरह मंगलवार को भी घाटी में प्रदर्शन का एलान किया था।

सोमवार को स्कूल-कॉलेज के छात्रों ने भी पुलिस और सेना पर पत्थर फेंकना शुरु कर दिया। पत्थर फेंकने में कई लड़कियां भी शामिल थीं। छात्रों के उग्र हो रहे विरोध पर काबू पाने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े। इस दौरान तकरीबन 55 छात्र घायल हो गए थे। घाटी के हालात को देखते हुए पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने राष्ट्रपति शासन की मांग की है।

इसे भी पढ़ें

कश्मीर में पत्थरबाजों की आएगी शामत, केंद्र सरकार ने लिया ये बड़ा फैसला

कश्मीर में बने तनाव के हालात पर सीएम महबूबा मुफ्ती ने कैबिनेट की आपात बैठक बुलाई है। इस बैठक में घाटी के हालात पर चर्चा होगी। इसबार हालात ज्यदा गंभीर इसलिए भी हैं क्योंकि पत्थर फेंकनेवालों में स्कूल के छात्र शामिल हो गए हैं। पत्थरबाज छात्रों को सेना पर पत्थर फेंकने के लिए उकसा रहे हैं।

सोमवार को श्रीप्रताप कॉलेज के छात्रों ने सेना और पुलिस पर पथराव किया था। बाद में इनके साथ स्कूलों के छात्र भी शामिल हो गए थे। इन्हें काबू में करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े गए थे। घाटी में हो रही पत्थरबाजी पर सीआरपीएफ के आईजी ऑपरेशंस जुल्फिकार हसन के मुताबिक इसके पीछे आतंकियों और उनके समर्थकों का हाथ है। जुल्फिकार हसन ने कहा कुछ जगहों पर आतंकियों और उनके अंडरग्राउंड समर्थकों का डर लोगों पर रहता है। सेना जब भी ऑपरेशन करने जाती है उसी वक्त आतंकियों के समर्थक स्थानीय लोगों पर पत्थर फेंकने को कहते हैं। इसका असर ऑपरेशन पर भी पड़ता है।

कश्मीर के ताजा हालात पर सेना प्रमुख विपिन रावत ने एनएसए अजीत डोभाल से मुलाकात कर घाटी के हालात की जानकारी दी है। इस मामले में आईबी की तरफ से अलर्ट जारी किया गया है। जिसके मुताबिक पाकिस्तानी हैंडलर्स ने पत्थरबाजों से सुरक्षाबलों पर पेट्रोल बम से हमला करने को कहा है। पाकिस्तान की इस साजिश को नाकाम करने के लिए सुरक्षा एजेंसियां नई रणनीति तैयार करने में जुटी हैं।

Loading...

Leave a Reply